देश के खिलाफ साजिश की जा रही, हम हर चुनौती के लिए तैयार

0 0

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) के 18वें अलंकरण समारोह में शिरकत की। इस मौके पर गृह सचिव अजय भल्ला और इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर अरविंद कुमार भी मौजूद रहे। इस दौरान शाह ने बिना नाम लिए पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया। बता दें कि बीएसएफ का अलंकरण समारोह 2003 से हर साल बीएसएफ के पहले महानिदेशक और पद्म विभूषण से सम्मानित केएफ रूस्तमजी के जन्मदिन के मौके पर आयोजित किया जाता है। इस साल कोरोना महामारी के चलते इसका आयोजन आज किया जा रहा है। इस साल 27 जवानों को सम्मानित किया गया। इनमें 14 को वीरता के लिए पुलिस पदक और 3 रिटायर्ड सहित 13 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

अमित शाह ने कहा कि जिस देश की सीमाएं सुरक्षित हों, वह देश सुरक्षित है। आपने देखा ड्रोन भेजे जा रहे। सुरंगे बनाई गईं, लेकिन हम इन चुनौतियों के लिए तैयार हैं। देश के खिलाफ की जा रही हर साजिश का जवाब दिया जा रहा है। बीएसएफ चीफ राकेश अस्थाना यहां बैठे हैं। उनकी टीम सुरंगे ढूंढकर सारा एनालिसिस करके कि सुरंग कितने दिन पहले बनी होगी? कितने लोग घुसे होंगे? इसका पता लगाकर जल्द से जल्द समस्या का निदान करती है।

गृह मंत्री शाह ने कहा कि मैं उन लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने सर्वोच्च बलिदान दिया है। पूरा देश जानता है कि आप सजग बनकर देश की सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं, इसी कारण आज देश लोकतंत्र के अपनाए हुए विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। उन बलिदानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। सीमा सुरक्षा के काम में लगे बीएसएफ और सभी पैरामिलिट्री फोर्स की वजह से ही आज भारत दुनिया के नक्शे पर अपना गौरवमय स्थान दर्ज करा रहा है। सीमा सुरक्षा राष्ट्रीय सुरक्षा है। हमारे सामने कई चुनौतियां हैं। मुझे अपने अर्धसैनिक बलों पर पूरा भरोसा है।

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी की लीडरशिप में हमारी एक स्वतंत्र रक्षा नीति है। इसके तहत जिसने हमारी संप्रभुता को ललकारा उसे उसी की भाषा में जवाब दिया जाता है। आज भारत किसी के सामने झुकता नहीं है, बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोपरि मानते हुए चुनौतियों का डटकर सामना करता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.