Monday , August 15 2022

नहीं रहे दलित नायक राम विलास पासवान, 74 साल की उम्र अंतिम साँस

नई दिल्ली: साल 1975 में जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल की घोषणा की तो देश के हर वर्ग, हर राज्य से लोग उनका विरोध करने लगे ऐसा ही एक आन्दोलन था जे.पी आन्दोलन जिसका नेतृत्व कर रहे थे दिग्गज नेता जयप्रकाश नारायण। इसी आन्दोलन से लालू प्रसाद यादव, मुलायम सिंह यादव जैसे नेता निकले और इसी आन्दोलन बिहार के शहरबन्नी से निकले रामविलास पासवान, जो आगे चल कर लम्बे समय तक दलित नायक के रूप में जाने गये। उन्ही रामविलास पासवान का निधन बीते 8 अक्टूबर को हो गया पासवान ने दिल्ली के फोर्टिस अस्‍पताल में 74 वर्ष की आयु में अंतिम साँस ली।

उनकी मृत्यु की ख़बर उनके बेटे विराग पासवान ने ट्वीट करके दी चिराग ने अपने बचपन की एक तस्वीर के साथ लिखा कि, “पापा….अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। Miss you Papa…”

बता दें कि रामविलास पासवान लम्बे समय से ह्रदय संबंधी रोग से ग्रस्त थे। बीते 2 अक्टूबर को उनका एक ऑपरेशन भी हुआ था। और तब से वह दिल्ली स्थित फोर्टिस अस्‍पताल में थे। 8 अक्टूबर की शाम से उनकी तबियत अचानक ख़राब हो गई और उन्होंने फोर्टिस अस्‍पताल में शाम 6:05 बजे अंतिम साँस ली।

पक्ष के साथ-साथ विपक्ष ने भी दी श्रद्धांजलि

रामविलास पासवान की अकस्मात् हुई मृत्यु की ख़बर बाहर आते ही क्या पक्ष क्या विपक्ष सभी ने ट्वीट करते हुए रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी।

लालू ने किया याद

जे.पी. आन्दोलन में पासवान के साथी रहें बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने रामविलास पासवान को याद करते हुए ट्वीट कर लिखा कि, “रामबिलास भाई के असामयिक निधन का दुःखद समाचार सुन अति मर्माहत हूँ। विगत 45 वर्षों का अटूट रिश्ता और उनके संग लड़ी तमाम सामाजिक, राजनीतिक लड़ाइयाँ आँखों में तैर रही है।रामबिलास भाई, आप जल्दी चले गए। इससे ज़्यादा कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूँ। ॐ शांति ॐ”

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लिखा कि,

“रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है। ग़रीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज़ खो दी। उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएँ।”

https://twitter.com/RahulGandhi/status/13142282964610867

राष्ट्रपति सहित प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

नहीं रहे  दलित नायक राम विलास पासवान, 74 साल की उम्र अंतिम साँस

राम विलास पासवान के निधन के बाद देश में शोक का माहौल है। उनके निधन के बाद शोक में राष्‍ट्रपति भवन पर राष्‍ट्रध्‍वज झुका दिया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित पक्ष-विपक्ष के कई वरिष्ठ नेताओं व केंद्रीय मंत्रियों ने ट्वीट कर उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित केंद्रीय कैबिनेट के मंत्रिगण उन्‍हें श्रद्धांजलि देने उनके दिल्‍ली आवास पर पहुंचे।

नहीं रहे  दलित नायक राम विलास पासवान, 74 साल की उम्र अंतिम साँस

बता दें कि राम विलास पासवान मोदी सरकार में केंद्री मंत्री हैं और उनकी लोक जनशक्ति पार्टी केंद्र में मोदी सरकार के समर्थन में हैं। पासवान ने अपने जीवन काल में 11 चुनाव लड़ें थे, इनमे से 9 में उन्हें जीत मिली प्राप्त हुई थी। पासवान अकेले ऐसे राजनेता थे जिन्होंने अपने चुनावी जीवनकाल में 6 अलग-अलग प्रधनामंत्रियों के साथ काम किया था।

 

Leave a Reply