Tuesday , September 27 2022
डिप्रेशन महसूस होने पर भूलकर भी न करें ये काम
डिप्रेशन महसूस होने पर भूलकर भी न करें ये काम

डिप्रेशन महसूस होने पर भूलकर भी न करें ये काम

अवसाद और तनाव आज एक गंभीर बीमारी बन चुकी है। डिप्रेशन की समस्या लोगों के जीवन को बुरी तरह प्रभावित कर रही है। डिप्रेशन के कारण कई तरह की बीमारियों से लोग ग्रसित होने लगते हैं। तनाव या अवसाद की स्थिति में व्यक्ति को कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए। इसके उल्ट जब डिप्रेशन महसूस होने पर लोग कुछ ऐसी गलतियां कर जाते हैं, जो उन्हें नहीं करनी चाहिए। इससे सेहत पर बुरा असर पड़ता है और डिप्रेशन की स्थिति अधिक नुकसानदायक हो जाती है। ऐसे में अगर आपको डिप्रेशन महसूस हो रहा हो तो इस समस्या को कम करने और खुद को अवसाद की स्थिति से बाहर निकालने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। खुद को अकेला न होने दें और डिप्रेशन महसूस होने पर पांच काम भूल कर भी न करें। चलिए जानते हैं अवसाद या तनाव होने पर क्या नहीं करना चाहिए।

कई बार लोग डिप्रेशन होने पर ओवर इटिंग करने लगते हैं। तनाव की स्थिति में भले ही उन्हे भूख न लगी हो, लेकिन इसके बावजूद वह ज्यादा खा लेते हैं। ऐसा करने से शरीर को नुकसान होने लगता है। शारीरिक और मानसिक तौर पर कई बीमारियों से आप ग्रसित हो सकते हैं। जैसे अनिद्रा की समस्या, अपच की समस्या या पेट में गैस आदि हो सकती है। अवसाद जो एक तरह से आपकी मानसिक स्थिति होती है वह शारीरिक समस्याओं को भी बढ़ा देती है। इसलिए ओवर ईटिंग से बचें।

अक्सर देखा जाता है कि डिप्रेशन का शिकार लोग नशा करने लगते हैं। वह अधिक धूम्रपान या शराब का सेवन शुरू कर देते हैं। अवसाद या तनाव में अल्कोहल के सेवन से बचना चाहिए।

तनाव या अवसाद की स्थिति में पीड़ित अकेला और उदास रहने लगता है। इस तरह के लक्षण को नजरअंदाज न करते हुए खुद को अकेला न होने दें। खुली हवा में निकलें। शुद्ध वातावरण को महसूस करें। कमरे में बंद रहने के बजाए परिवार या दोस्तों के साथ समय बिताने की कोशिश करें। लोगों से मिले और मन की भावनाओं को दबाएं नहीं, बल्कि खुलकर बात करें।

डिप्रेशन में लोग दूसरों से घुलने मिलने की बजाए अपना समय मोबाइल, लैपटॉप या वीडियो गेम्स में बिताते हैं। इससे स्ट्रेस बढ़ता है। लोग अवसाद की स्थिति में ऐसे गाने या म्यूजिक सुनते हैं, जो तनाव को कम करने के बजाए बढ़ा सकता है। आपका मूड इससे अधिक खराब हो सकता है। इसलिए इन चीजों से बचें और लोगों के साथ वक्त बिताएं।

डिप्रेशन से पीड़ित लोग अक्सर ही बिस्तर पर लेटे रहते हैं। वह जैसे ही फ्री होते हैं लेटना पसंद करते हैं। हालांकि इससे उन्हें अनिद्रा की समस्या भी हो जाती है। इसलिए लेटे रहने के बजाए वाॅक पर निकलें। कसरत, योग या डांस करें। खुद को व्यस्त रखें। सोशल मीडिया या भ्रामक बातों से दूर रहें।