Monday , August 8 2022

#Scam: खनन घोटाला मामले में गायत्री प्रजापति के घरों पर एक साथ ED की छापेमारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति लखनऊ, कानपुर और अमेठी में सात ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की है. दुष्कर्म और धोखाधड़ी के मामले में लखनऊ जेल में बंद गायत्री प्रसाद प्रजापति से ईडी कई बार पूछताछ भी कर चुकी है. आय से अधिक संपत्ति के मामले में गायत्री का बड़ा पुत्र अनिल भी जेल में बंद है. बताया जाता है कि चालक रामराज उर्फ छोटू के पास भी 200 करोड़ की प्रॉपर्टी है.

बता दे कि खनन घोटाले में सपा सरकार के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. ईडी ने मनी लांड्रिंग के गायत्री के लखनऊ, कानपुर और अमेठी में सात स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई की है. लखनऊ में उनके घर और कार्यालय, कानपुर में उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट और अमेठी में बेनामी धारकों के यहां तलाशी ली गई है. ईडी ने बीते दिनों गायत्री प्रसाद प्रजापति से लंबी पूछताछ भी की थी. सपा शासनकाल में हुए खनन घोटाले की सीबीआइ जांच भी चल रही है. ईडी पूर्व मंत्री की संपत्तियों को जब्त करने की तैयारी कर रही है.

हमीरपुर खनन घोटाले में ईडी मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर जांच कर रही है

दरअसल, खनन मंत्री रहते हुए गायत्री प्रसाद प्रजापति ने आठ पट्टों के आवंटन की स्वीकृति दी थी. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी खनन मंत्री के तौर पर 14 पट्टों के आवंटन की स्वीकृति दी थी. हमीरपुर खनन घोटाले में ईडी मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर जांच कर रही है. इस केस में तत्कालीन डीएम हमीरपुर बी.चंद्रकला व सपा एमएलसी रमेश मिश्रा समेत अन्य आरोपितों से पूछताछ में तत्कालीन खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की भूमिका सामने आई थी. ईडी को गायत्री की कई बेनामी संपत्तियों का ब्योरा भी मिला था.

खनन घोटाला सपा  की सरकार में वर्ष 2012 से 2016 के बीच हुआ

बता दें कि यूपी में खनन घोटाला समाजवादी पार्टी की सरकार में वर्ष 2012 से 2016 के बीच हुआ था. इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश पर सीबीआइ इस घोटाले की जांच कर रही है. हाई कोर्ट ने दो अलग-अलग जनहित याचिकाओं पर 28 जुलाई, 2016 को अवैध खनन की जांच के आदेश दिए थे. जांच में सीबीआइ को साल 2012-16 के दौरान हमीरपुर जिले में व्यापक पैमाने पर अवैध खनन किए जाने के साक्ष्य मिले, जिससे बड़े पैमाने पर सरकारी राजस्व को क्षति पहुंची.

गायत्री प्रजापति पर अवैध खनन कराने के आरोप हैं

पिछले दिनों सीबीआइ ने अवैध खनन घोटाले में गायत्री प्रसाद प्रजापति के 22 ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी. गायत्री प्रजापति समाजवादी पार्टी सरकार में खनन मंत्री रह चुके हैं. उन पर अवैध खनन कराने के आरोप हैं. इसके साथ ही वह महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में भी आरोपित हैं. अवैध खनन के मामले में सीबीआइ ने 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

Leave a Reply