राजधानी दिल्ली में बिजली का संकट , उपभोक्ताओं को मिला ये एसएमएस

देश कोयले की कमी से जूझ रहा है जिसके चलते बिजली के उत्पादन में परेशानी होगी

0 1

राजधानी दिल्ली में जहां केजरीवाल सरकार 200 यूनिट बिजली फ्री में दे रही है लेकिन अब वहीं बिजली सप्लाई को लेकर चिंता जताई जा रही है दरअसल बिजली के उत्पादन में रुकावट आने से बिजली की सप्लाई में भी दिक्कत आएगी जिसमें उपभोक्ताओं को बिजली कटौती के रूप में झेलना होगा। ऐसे में टाटा पावर ने अपने ग्राहकों से संभालकर बिजली खर्च करने को कहा है टाटा पावर ने यह मैसेज इसलिए किया है क्योंकि देश इस वक्त कोयले की कमी से जूझ रहा है जिसके चलते बिजली के उत्पादन में आने वाले दिनों में परेशानी होगी। ताकि कमी होने पर भी 24 घंटे आपूर्ति हो सके। टाटा पावर मुख्यतः उत्तर पश्चिमी दिल्ली में बिजली सप्लाई करता है और इसी इलाके के ग्राहकों को यह मैसेज मिला है। टाटा पावर कोयले से उत्पादित होने वाली बिजली सप्लाई करता है और उसके पास अब सिर्फ दो दिनों का स्टॉक बचा है। टीपीडीडीएल के सीईओ गणेश श्रीनिवासन ने जानकारी दी कि कोयले का स्टॉक कम होने के चलते दिल्ली को बिजली कटौती का सामना करना पड़ सकता है। दिल्ली और केंद्र दोनों सरकारों द्वारा उठाए जा रहे कदमों से राहत मिलने की पूरी उम्मीद है। हालांकि इस बारे में अभी दिल्ली सरकार का कोई पक्ष नहीं मिल सका है।

टाटा पावर ने शनिवार को उपभोक्ताओं को एसएमएस भेजा जिसमें लिखा है कि, ‘चूंकि पूरे उत्तर भारत में कोयले का सीमित स्टॉक बचा है तो दोपहर दो बजे से 6.00 बजे तक बिजली की सप्लाई में परेशानी आ सकती है। कृपया संभाल कर बिजली खर्च करें। जिम्मेदार नागरिक बनें। असुविधा के लिए खेद है।’ वहीं अब दिल्ली सरकार ने भी राजधानी पर मंडरा रहे दिल्ली संकट के बारे में संज्ञान लिया है। कोयले की कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख दिया है। केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से दखल की अपील की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.