Monday , August 8 2022

इंजीनियर पति ने की पत्नी की निर्मम हत्या

मऊ। उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में शुक्रवार को पत्नी से विवाद के बाद बौखलाए पति ने धारदार हथियार से पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। मृतका के घर पर उपस्थित भाई ने पुलिस को इस दर्दनाक हादसे की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतका का शव और हत्यारे पति को हिरासत में ले लिया।पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त गंडासा भी बरामद कर लिया है। घटना शुक्रवार की प्रातः 8:30 बजे की है।

पूरा मामला हलधरपुर थाना के दक्षिणांचल ग्राम पंचायत मुस्तफाबाद का है। मृतका के भाई राजेश कुमार सिंह पुत्र श्री अभय नारायण सिंह निवासी नरनी थाना रसड़ा कोतवाली जनपद बलिया वहां मौजूद थे । तथा परिवार के अन्य सदस्य भी थे ।सभी इस सनसनीखेज वारदात से अवाक रह गए। घटना की सूचना हत्यारे और उसके साले ने 112 पर सूचना दी।जिससे पीआरवी 8283 एवं पीआरवी 8284 दोनों मौके पर पहुंच गए।घटना की सूचना मिलते ही सबसे पहले चौकी प्रभारी आउटपोस्ट रतनपुरा शिवमूर्ति तिवारी अपने अमले के साथ पहुंच ,और जांच पड़ताल की कार्यवाही शुरू कर दी।

मुस्तफाबाद ग्राम पंचायत निवासी बासुकीनाथ सिंह के पुत्र हरिद्वार सिंह की शादी 2009 में रसड़ा कोतवाली थाना अंतर्गत नरनी ग्राम पंचायत निवासी अभय नारायण सिंह की पुत्री सरिता सिंह के साथ हुई थी ।इनके दो बच्चे भी हैं । बड़ा लड़का हरिओम सिंह 8 वर्ष एवं छोटा बच्चा श्री ओम सिंह 6 वर्ष का है। हरिद्वार सिंह दिल्ली में किसी कंपनी में इंजीनियर थे। कुछ दिनों से अमेरिका में रह रहे थे।

पत्नी भी साथ दिल्ली में ही थी,और लॉकडाउन शुरू होते ही वे लोग गांव आ गए। पति पत्नी में विगत कई वर्षों से आपसी मनमुटाव एवं विवाद चल रहा था। कई बार इसे सुलझाने के लिए पंचायत में भी हुई ,परंतु कोई समाधान नहीं निकला। हरिद्वार सिंह ने अपने ससुराल फोन करके अपने ससुर अभय नारायण सिंह एवं साले राजेश कुमार सिंह को विवाद के समाधान के निमित्त बुलाया था। दोनों मुस्तफाबाद गांव पहुंचे थे ,विवाद के समाधान के लिए वार्ता चल ही रही थी।हरिद्वार सिंह अपनी पत्नी से विवाह विच्छेद करने हेतु उसे तलाक देने के लिए बार-बार दबाव बना रहा था।

परंतु उसकी पत्नी इसके लिए सहमत नहीं थी, जिसको लेकर के विवाद बढ़ गया ,और गुस्साए हरिद्वार सिंह घर के अंदर गए ,और गड़ांसी से तीन बार अपनी पत्नी सरिता सिंह के गले पर प्रहार किया, इस प्रहार से सरिता सिंह गिरकर तड़पने लगी, और उन्होंने दम तोड़ दिया। उस समय उसके भाई राजेश सिंह घर के बाहर मौजूद थे,और बहन के चिल्लाने की आवाज सुनकर भीतर गए। तब तक सब कुछ खत्म हो चुका था।

मौके पर पहुंचे चौकी प्रभारी शिव मूर्ति तिवारी ने हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया,और गंडासे भी बरामद कर लिया। मृतका सरिता सिंह के भाई राजेश कुमार सिंह की तहरीर पर हलधरपुर थाने में आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्यारोपी के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

इस हादसे से संपूर्ण गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।मौके पर एडिशनल एसपी, क्षेत्राधिकारी मधुबन, थाना प्रभारी डीके श्रीवास्तव चौकी प्रभारी शिव मूर्ति तिवारी समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल पहुंचकर मौका-ए-वारदात, का मुआयना किया। पति पत्नी के बीच काफी लंबे समय से चल रहे इस विवाद की परिणीति इस रूप में होगी। इसे कोई नहीं जानता था।

लेकिन होनी को कौन टाल सकता है। मुस्तफाबाद एवं मृतका के मायके नरनी में जैसे ही इस दर्दनाक हादसे की खबर पहुंची, हर तरफ चीख-पुकार मच गई। मृतका के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। जबकि ससुराल में सास ससुर और दोनों बच्चे नदारद थे। हत्यारोपी हरिद्वार सिंह अपने माता-पिता की इकलौती संतान है। संपूर्ण गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply