Monday , September 26 2022

Delhi में Mask नहीं पहना तो लगेगा 2000 रुपए का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना वायरस के कहर को रोकने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। कोरोना को लेकर दिल्ली सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस ने बाजारों को बंद करने का विरोध किया है। इसके अलावा भाजपा ने कुप्रबंधन और बेड की संख्या में वृद्धि का मामला उठाया।

कांग्रेस ने सार्वजनिक रूप से छठ पर प्रतिबंध नहीं लगाने के लिए दिल्ली सरकार को एक चिट्ठी भी दी है। दिल्ली में अब मास्क नहीं पहनने पर 2 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा। इसका ऐलान खुद सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया। उन्होंने कहा कि पहले 500 रुपए का जुर्माना लगता था, लेकिन कई लोग अभी भी मास्क नहीं पहन रहे हैं, इस वजह से हम जुर्माने को बढ़ाकर 2 हजार रुपए कर रहे हैं।

सार्वजनिक जगहों पर छठ न मनाएं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम चाहते हैं कि लोग धूमधाम से छठ मनाएं, लेकिन सार्वजनिक जगहों पर छठ न मनाएं। कई राज्य सरकारों ने इस पर प्रतिबंध लगाया है। हम भी चाहते हैं कि कोरोना मत फैले, इसलिए आप लोगों से निवेदन है कि छठ को घर पर ही मनाएं।

हाई कोर्ट ने आप सरकार से पूछे तीखे सवाल

हाई कोर्ट ने यहां तक कहा कि हर दिन कोविड के कारण मरने वालों के परिजनों को सरकार क्या जवाब देगी? उसने सरकार से पूछा, ‘हर रोज मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। रोज कोई न कोई अपने किसी करीबी या परिजन को खो रहा है। उन्हें क्या जवाब देंगे? मरने वालों को वापस तो नहीं लाया जा सकता। हम यह नहीं कह रहे कि इसके लिए सरकार ही जिम्मेदार है।

आम जनता की भी जिम्मेदारी बनती है। पर अथॉरिटी होने के नाते हमें संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे।’ कोर्ट ने इस बात पर चिंता जताई कि दिल्ली कोरोना प्रभावित महानगरों में टॉप पर पहुंच चुका है।

नियम तोड़ने वालों पर ऐक्शन से भड़का कोर्ट

कोविड से बचाव के नियमों का पालन नहीं कर रहे लोगों पर दिल्ली सरकार की तरफ से कड़ी कार्रवाई को लेकर हाई कोर्ट काफी गुस्से में दिखा। उसने दिल्ली सरकार से पूछा कि आप किस तरह की निगरानी कर रहे हैं? किस कानूनी प्रावधान के तहत आप लोगों को मास्क न पहने और सामाजिक दूरी का पालन न करने के लिए दंड दे रहे हैं? कोर्ट ने सुझाव दिया कि जुर्माना लगाने का मकसद अपराध को रोकना होना चाहिए जिससे लोगों को पता चल सके कि अगर वे इन नियमों का पालन नहीं करेंगे तो दूसरों के लिए भी खतरा पैदा कर सकते हैं।

Leave a Reply