Saturday , October 1 2022
Lucknow : मंडी सचिव के खिलाफ दर्ज हुई FIR
Lucknow : मंडी सचिव के खिलाफ दर्ज हुई FIR

Lucknow : मंडी सचिव के खिलाफ दर्ज हुई FIR

लखनऊ। विभूतिखंड थाना में नवीन फल सब्जी और गल्ला मंडी सीतापुर रोड, लखनऊ के मंडी सचिव के खिलाफ धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। उन पर आढ़त का काम दिलाने के नाम पर उगाही का आरोप है। जो आढ़ती इनको पैसा नहीं देता उसको साथियों की मदद से परेशान करते हैं। पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।
विभूतिखंड इंस्पेक्टर डॉ. आशीष मिश्र के मुताबिक पीड़ित की शिकायत पर मंडी सचिव संजय सिंह समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपों की जांच की जा रही है। साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।
गोमतीनगर विस्तार स्थित वनस्थली अपार्टमेंट निवासी पीड़ित विजय प्रताप का आरोप है कि 12 मई 2020 को आढ़त की लाइसेंस के लिए सीतापुर रोड स्थित नवीन फल सब्जी और गल्ला मंडी गया था। जहां एक युवक ने मदद के नाम पर गल्ला मंडी कार्यालय ले जाकर मंडी सचिव संजय कुमार सिंह से मिलवाया।
सचिव संजय ने आढ़त की लाइसेंस दिलवाने का वादा करते हुए फोन पर सिंह ट्रेडिंग कंपनी के विजय सिंह और अजय सिंह से बात कराई। जिसके बाद दोनों से मिला। विजय सिंह और अजय सिंह ने आढ़त की लाइसेंस को लेकर संजय कुमार सिंह से बात कर दो दिन बाद मिलने को कहा।
मंडी सचिव संजय ने मिलने पर कहा कि विजय सिंह और अजय सिंह के हिसाब से चलोगे तो लंबी कमाई होगी। जिसके चलते उनके कहने पर व्यापार के लिए 20 लाख रुपए लगा दिए। जिसके एवज में हर माह सवा लाख देने को कहा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।
आढ़त की लाइसेंस और व्यापार में मुनाफा न मिलने पर दोनों से पैसे वापस मांगे तो धमकी मिलने लगी। जबकि उन लोगों को व्यापार और लाइसेंस के नाम पर 12 लाख रुपए खाते में और नगद 8 लाख दिए थे। लगातार तकादा करने पर 69 हजार रुपए चेक से देकर यह कह कर भगा दिया कि अब दोबारा मंडी में दिखाई पड़े तो जान से मरवा दूंगा।
पीड़ित का आरोप है कि थाने पर शिकायत करने पर एक जुलाई 2021 को विजय सिंह ने किसान बाजार बुलाया। जहां विजय और अजय ने साथियों के साथ मारपीट की। जिसके बाद तीन जुलाई 2021 को विभूतिखंड पुलिस से शिकायत पर 5 लाख रुपए दिया। शेष 15 लाख देने की जगह जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।