Monday , August 8 2022
कोरोना वैक्सीन बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग
कोरोना वैक्सीन बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग

कोरोना वैक्सीन बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में गुरुवार दोपहर कोरोना वैक्सीन बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के टर्मिनल 1 गेट में अचानक आग लग गई। चारों तरफ देखते ही देखते धुएं का गुबार फैल गया। जिससे अफरा-तफरी का माहौल हो गया। मौके पर एक दर्जन से ज्यादा दमकल विभाग की गाड़ियों ने आग बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत की। बताया जा रहा है कि ये आग वेल्डिंग करने के दौरान रोटा वायरस वैक्सीन के प्लांट को इंस्टाल करते वक्त लगी। ये प्लांट निर्माणाधीन है। बताया जा रहा है कि इस लैब में टीबी से बचाव के लिए लगाया जाने वाला बीसीजी का टीका बनाया जाता है। फिलहाल जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। गनीमत रही ये आग उस इमरत में नहीं लगी, जहां कोरोना वैक्सीन का निर्माण कार्य हो रहा है। दोनों ही बिल्डिंग्स में करीब 1.5 किमी. की दूरी है।

क्या बोले पुलिस कमिश्नर ?

पुणे पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता ने बताया कि हमें करीब पौने तीन बजे सीरम इंस्टीट्यूट की एक इमारत में आग लगने की सूचना मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड तुरंत मौके पर पहुंची। सभी लोगों को निकाल लिया गया है। इस इमारत में वैक्सीन का प्लांट या भंडारण नहीं किया जा रहा था। आग बुझ जाने के बाद पुलिस की जांच शुरू हो जाएगी। हम हर पहलू की जांच करेंगे। इस इमारत में निर्माण कार्य चल रहा था।

किसी की जान का कोई नुकसान नहीं

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदार पूनावाला ने ट्वीट कर जानकारी दी कि आग से कुछ फ्लोर पूरी तरह बर्बाद हो गए हैं। आग पर काबू पा लिया गया है, और किसी की जान का कोई नुकसान नहीं हुआ, ना ही किसी को चोट आई। आपकी चिंता और प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आग लगने से कोई जनहानि नहीं आई है।

क्यों खास है सीरम इंस्टीट्यूट?

यह वैक्सीन बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। अब तक यह अलग-अलग वैक्सीन के 1.5 अरब डोज बेच चुकी है। यह एक तरह का रिकॉर्ड भी है। एक आंकड़े के मुताबिक, दुनिया के 60 फीसदी बच्चों को सीरम की एक वैक्सीन जरूर लगी है।
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन से मान्यता प्राप्त सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन 170 देशों में सप्लाई होती हैं। यह कंपनी पोलियो वैक्सीन के साथ-साथ डिप्थीरिया, टिटनस, पर्ट्युसिस, एचआईवी, बीसीजी, आर-हैपेटाइटिस बी, खसरा, मम्प्स और रूबेला के टीके भी बनाती है।

Leave a Reply