Thursday , October 6 2022

मानसून एलर्जी रोकथाम के लिए अपनाएं ये उपाय

नई दिल्ली: मॉनसून के दौरान ह्यूमिडिटी बढ़ जातर है और आपके चारों ओर ही सतह गीली व नम हो जाती हैं, जिससे घर के अंदर काफी ज्यादा मात्रा में एलर्जन एकत्रित हो जाते हैं, जो लोगों में सांस से संबंधित एलर्जी पैदा कर सकते हैं। घरों के अंदर की हवा में इनडोर एयर पॉल्यूटेंट होते हैं, जिन्हें पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) कहा जाता है। पार्टिकुलेट मैटर हवा में मौजूद कण जैसे पोलन फ्रैगमेंट्स, डस्ट माईट फ्रैगमेंट्स और डस्ट माईट फेसेज़ और बाहरी प्रदूषण के कारण घर में आने वाले कण, जैसे ब्रेक डस्ट और वाहन इग्ज़ॉस्ट के कण आदि होते हैं। इनमें से अधिकांश कण, जो आकार में 2.5 माईक्रॉन या उससे बड़े होते हैं, वो एलर्जन होते हैं और बड़े कण, जैसे स्किन सेल्स घर में धूल बढ़ाते हैं।
हल्की बारिश पोलन का स्तर घटाती है क्योंकि इसके द्वारा हवा में मौजूद पोलन धुल जाते हैं, लेकिन भारी बारिश

का प्रभाव इसके उलट हो सकता है। अमेरिकी मीटियोरोलॉजिकल की विस्तृत समीक्षा और पॉलेन काउंट डेटा में पाया गया कि 10 सेमी. से कम की हल्की बारिश से पोलन का स्तर घटा। लेकिन 10 सेमी. से ज्यादा बारिश का प्रभाव इसके विपरीत हुआ और हवा में फैलने वाले पोलन बढ़ें।

आपको अपने घर में किन चीजों से एलर्जी हो सकती है?
घर के अंदर आंखों में खुजली होना और पानी आना, छींक आना, नाक बहना, या घरघराहट होना यह सब एलर्जी के कारण होता है। यह एलर्जी डस्ट माईट, पोलन,पालतू पशु के डैंडर, मोल्ड, कॉकरोच ड्रॉपिंग्स, डस्ट माईट्स आदि के कारण हो सकती है।

एलर्जी के लक्षणों से बचने के कारगर उपाय

  • जब वातावरण में पोलन ज्यादा हों, तब बाहर ज्यादा समय न बिताएं।
  • वातावरण में पोलन की मात्रा ज्यादा हों, तो घर और कार की खिड़कियां-दरवाजे बंद रखें।
    जब बाहर से घर के अंदर आएं, तो नहा लें और अपने परिवार से भी ऐसा ही करने को कहें, जिससे बाहर से घर के अंदर पोलन को आने से रोका जा सके।
  • बाहर से घर के अंदर आने पर अपने कपड़ों को भी धोएं।
  • जब आप यार्ड में काम कर रहे हों, जैसे लॉन में छंटाई या फिर पत्तियों की कटाई कर रहे हों, तो फिल्टर मास्क पहनकर रखें।
  • घर से बाहर हों, तो अपनी आंखों और नाक की सुरक्षा मास्क व ग्लासेज़ से करें।
    वैक्यूम क्लीनर द्वारा घर की नियमित रूप से सफाई करें।
  • चादरों को नियमित रूप से धोएं और जिन स्टफ्ड को गर्म पानी से नहीं धोया जा सकता, उन्हें फ्रीज़ कर दें।
  • कालीनों को डीप क्लीन करें और फर्श को धोएं ताकि डैंडर, डस्ट माईट एवं अन्य ट्रिगर्स धुलकर साफ हो जाएं।
  • हेपा और कार्बन फिल्टर वाले एयर प्योरिफायर द्वारा अपने घर की हवा स्वच्छ बनाकर रखें।