Saturday , August 13 2022

श्मशान घाट हादसा: मृतकों के परिजनों का प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को श्मशान में हुई घटना के संबंध में पुलिस ने मुरादनगर नगर पालिका की अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया है। अभी ठेकेदार अजय त्यागी फरार है। चारों आरोपियों पर रविवार की शाम पुलिस ने गैर इरादतन हत्या, भ्रष्टाचार लापरवाही समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज किया था।

25 की मौत हो गई, 24 घायल हैं

इस हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है। दरअसल, गाजियाबाद के मुरादनगर स्थित श्मशान घाट पर कस्बे के फल कारोबारी जयराम (65) का रविवार दोपहर में अंतिम संस्कार किया जा रहा था। अंतिम संस्कार के दौरान सभी लोग गेट से सटी गैलरी में खड़े थे। इसी दौरान गैलरी की छत गिरने से कई लोग दब गए। इनमें 25 की मौत हो गई, 24 घायल हैं। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उनके एक बेटे की भी मौत हुई है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया

इस हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शोक व्यक्त किया। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए शोकाकुल परिजनों को दो-दो-लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। साथ ही मंडलायुक्त और आईजी मेरठ को मुरादनगर हादसे की जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है।

बसपा ने की दोषियों को सख्त सजा दिलाने की मांग

इस मामले में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने यूपी सरकार से दोषियों को सख्त सजा दिलाने की मांग करते हुए पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद देने की मांग की है। मायावती ने सोमवार को ट्वीट किया कि यूपी के जिला गाजियाबाद, मुरादनगर में स्थित श्मशान घाट की छत गिरने से लगभग दो दर्जन लोगों की हुई मौत अति दर्दनाक व कष्टदायक। पीड़ित परिवार के प्रति अति संवेदना व कुदरत इन्हें इस दुःख को सहन करने की शक्ति दे। साथ ही, यूपी सरकार इस घटना की सही व समय से जांच कराके इसके दोषियों को सख्त सजा जरूर दिलाए अर्थात् किसी को भी ना बचाए तथा पीड़ित परिवार को उचित आर्थिक मदद भी जरूर करे, बीएसपी की यह मांग।

प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

इस हादसे में दम तोड़ चुके लोगों के परिजनों ने प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। सैकड़ों की संख्या में पीड़ित परिजन सड़क पर उतर आए। परिजनों ने मुरादनगर के उखलारसी के पास शव रख कर जाम लगा दिया। नाराज प्रदर्शनकारियों ने सीएम को बुलाने की मांग की। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश में जुटे रहे। भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई।

Leave a Reply