Saturday , May 21 2022

गोरखपुर में चलाया गया नो स्कूल – नो फीस अभियान, फीस ना लेने की कर रहें मांग

गोरखपुर : यूपी में लॉकडाउन के दौरान स्कूल के प्रशासन द्वारा अभिभावकों से लगातार फीस जमा करने की मांग की जा रही है. इसी से तंग आकर अभिभावकों ने गोरखपुर में स्कूलों के खिलाफ एक अभियान की शुरुआत की. इस अभियान का नाम ‘नो स्कूल फीस’ रखा गया.

आर्थिक संकट से जूझ रहें अभिभावक

दरअसल मामलें पर अभिभावकों का कहना है कि, ‘कोरोना संकट को लेकर देश भर में सम्पूर्ण लॉकडाउन किया गया था. इस दौरान सभी का रोजगार चौपट हो गया है, इससे उबरने में अभी लंबा वक्त लगेगा. इस बीच स्कूलों की तरफ से अभिभावकों पर फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है’. बता दें कि, हाल ही में मामले को लेकर गोरखपुर के पैरेंट्स एसोसिएशन के जरिए तमाम अभिभावकों ने नगर विधायक डॉक्टर राधा मोहन दास अग्रवाल से बात की थी.

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा से की बात

इस संबंध में अग्रवाल ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा से भी बात कर मामले की जानकारी दी थी. लेकिन डिप्टी सीएम ने फीस माफी की योजना से इंकार कर दिया था. शर्मा ने कहा था कि, फीस को पूरी तरह से माफ करना अथवा कम करना, व्यवहारिक रूप से सम्भव नहीं है. क्योंकि विद्यालय के स्थाई खर्च होते है, जिसे फीस लिए बिना पूरा करना मुश्किल होगा.

कई जगह पर वहा मौजूद लोगों ने भी अभिभावकों की मांग को उचित ठहराते हुए साथ देने की बात कही. अभिभावकों के इस अभियान में सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना बचाव के अन्य नियमों का पालन किया गया.

इस अभियान को जन अभियान से जोडा गया

वहीँ इसके बाद भी अभिभावक अपनी मांग पर अड़े हुए हैं. गोरखपुर में चलाए गए इस अभियान को अब जन अभियान से जोड़ दिया गया है. रविवार को शहर के कई मोहल्लों में ‘नो स्कूल – नो फीस’ के पैम्लेट्स और पोस्टरस शहर के कई हिस्सों में देखने को मिले जिसमें इसमें बच्चों ने भी सहयोग किया.

Leave a Reply