Friday , October 7 2022

HC जज करेंगे मूसेवाला मर्डर की जांच

चंडीगढ़। हत्या की न्यायिक जांच कराने का फैसला भगवंत मान सरकार ने लिया है। सिद्धू मूसेवाला के पिता ने मान को चिट्ठी लिखकर बेटे की हत्या की सीबीआई, एनआईए अथवा हाई कोर्ट के मौजूदा जज से जांच कराने की मांग की थी। इस पर सहमति जताते हुए भगगवंत मान ने जज से हत्याकांड की जांच कराने का आदेश दिया है। यही नहीं पंजाब सरकार ने सिद्धू मूसेवाला की वीआईपी सुरक्षा वापस लिए जाने के फैसले की भी जांच कराने की बात कही है। सीएमओ ऑफिस ने बताया कि मुख्यमंत्री इस मामले में पल-पल की अपडेट ले रहे हैं। आज मुख्यमंत्री वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इस मामले में मीटिंग भी कर सकते हैं।

भगवंत मान ने बयान जारी कर कहा कि दोषिय़ों को जल्दी ही पक़ड़ लिया जाएगा। बता दें कि सिद्धू मूसेवाला (शुभदीप सिंह) के पिता बलकौर सिंह ने मान को चिट्ठी लिखकर सीबीआई, एनआईए अथवा सिटिंग जज से केस की जांच कराए जाने की मांग की थी। यही नहीं उन्होंने भगवंत मान से मांग की है कि पंजाब के डीजीपी को माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि डीजीपी ने उनके बेटे की हत्या को गैंगवॉर का नतीजा बताया है, जिस पर उन्हें माफी मांगनी चाहिए। फिलहाल मूसेवाला की हत्या के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

सीसीटीवी से खुलेंगे राज, वीडियोज की भी हो रही पड़ताल

आईपीसी की धारा 302, 307, और 341 के तहत यह केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा आर्म्स ऐक्ट की धाराएं भी जोड़ी गई हैं। पुलिस फिलहाल हत्यारों की पहचान के लिए आसपास के इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। यही नहीं उस वीडियो की भी पुलिस जांच करने में जुटी है, जिसमें दो कारें सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी का पीछा करती दिख रही हैं। बता दें कि शनिवार को ही भगवंत मान सरकार ने बड़ी संख्या में पंजाब के वीआईपी लोगों की सुरक्षा को वापस लिया था या उसमें कटौती की थी। ऐसे में सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद भगवंत मान सरकार के फैसले पर भी सवाल उठ रहे हैं।

मूसेवाला की सुरक्षा में की गई थी कटौती, साथ नहीं ले गए थे कमांडो

पंजाब के डीजीपी ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद रविवार को मीडिया से बात करते हुए कहा था कि सिंगर के पास 4 कमांडो थे, जिनमें से दो को वापस ले लिया गया था। हालांकि रविवार को निकलते वक्त वह उन दो कमांडोज को भी साथ लेकर नहीं गए थे।