Monday , August 8 2022

हाई कोर्ट ने केजरीवाल सरकार से किया सवाल – स्पा खोलने की इजाजत क्यों नहीं ?

नई दिल्ली : दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों के बाद कई अन्य राज्य अलर्ट मोड में आ गए हैं और पहले से ही एहतियात बरतनी शुरू कर दी है. दिल्ली में जिस तरह से कोरोना फैला, वैसे नोएडा में भी न फैले, इसलिए दिल्ली से आने वालों का नोएडा के बॉर्डर पर रैंडम टेस्ट किया जा रहा है. बावजूद इसके राजधानी में जिम, रेस्टोरेंट, मेट्रो और बस आदि चालू हैं. लेकिन अभी तक शहर के स्पा को खोले की इजाज़त नहीं दी गई है.

एसोसिएशन ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

दिल्ली हाई कोर्ट ने केजरीवाल सरकार से पूछा है कि जब बाजार जिम, रेस्टोरेंट, मेट्रो, बस चलाने की अनुमति दे दी गई है तो फिर स्पा को खोलने की इजाजत अब तक क्यों नहीं दी गई है. कोर्ट ने सरकार से सवाल किया कि स्पा को बंद रखने के पीछे कारण क्या है. बता दें कि हाई कोर्ट ने ये सवाल स्पा एसोसिएशन से जुड़े लोगों की याचिका पर किया है. एसोसिएशन ने लॉकडाउन के बाद से स्पा को नहीं खोले जाने की अनुमति न मिलने पर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. याचिका में स्पा मालिकों ने कहा है कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन के तहत पेशेवर थैरेपिस्ट के रूप में प्रशिक्षित किया गया है. लेकिन स्पा बंद होने के चलते वो बेरोजगार हैं.

18 नवंबर को किया था ज्ञापन जारी

18 नवंबर को स्पा खोलने को लेकर कार्यालय ज्ञापन जारी कर दिया गया है. लेकिन दिल्ली सरकार के वकील ने कोर्ट से कहा कि दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों और कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर राज्य सरकार ने तय किया है कि फिलहाल स्पा को नहीं खोला जाएगा. याचिकाकर्ताओं का कहना है कि जब सैलून, जिम, रेस्टोरेंट और बार जैसे व्यवसायों को फिर से खोलने की अनुमति दी गई है और यहां तक ​​कि दिल्ली मेट्रो को भी फिर से शुरू किया गया है, तो स्पा क्यों नहीं खोला जा सकता. दिल्ली सरकार के इस मामले में हलफनामा दाखिल करने के बाद दिल्ली हाई कोर्ट 4 दिसंबर को इस मामले की दोबारा सुनवाई करेगा.

Leave a Reply