Saturday , May 21 2022

सर्दियों में और भी भयावह रूप ले लेगा कोरोना वाइरस, कैसे करे तैयारी?

लखनऊ:   कोरना वायरस पिछले 8 महीने से दुनिया  में निमोनियां जैसी बीमारी के रूप में सामने आया था. जिसनें जल्द ही पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया. 8 महीनों में कोरोना वायरस दुनिया के 213 देशों में फैल चुका है. दो करोड़ से अधिक लोगों को बीमार कर चुका है और 8 लाख से ज़्यादा लोगों की जान ले चुका है.

चिंता का विषय यह है कि भले ही SARS-CoV-2 वायरस काफी उत्परिवर्तन नहीं कर रहा है, जो कि वैक्सीन विकास के लिए अच्छी ख़बर है, लेकिन यह अभी भी एक ख़तरनाक दर से फैल रहा है.
बावजूद इसके कि दुनिया भर के शोधकर्ता नए कोरोना वायरस के लिए एक वैक्सीन तैयार करने के लिए बिजली की गति से काम कर रहे हैं, लेकिन फिर भी शायद उनकी रफ्तार धीमी पड़ जाए.

सर्दी के मौसम के साथ आ सकती है कोविड-19 की दूसरी लेहर

सर्दियों का मौसम अब दूर नहीं है, ऐसे में वैश्विक स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यह महामारी की दूसरी लहर ला सकता है, जो संभवतः पहले वाले की तुलना में अधिक ख़तरनाक साबित हो सकता है. हालांकि, ठंडे मौसम में वायरस कैसा व्यवहार करेगा, इस बारे में संदेह बना हुआ है. शुरुआती रिपोर्ट्स से पता चलता है कि यह सर्दियों के दौरान लंबे समय तक जीवित रह सकता है.
द प्रिंट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, एक संक्रामक रोग विशेषज्ञ, क्लाउस स्टोह्र, जो पहले डब्ल्यूएचओ के साथ भी काम कर चुके हैं, का कहना है कि “इस वायरस का व्यवहार अन्य श्वसन से जुड़े रोगों से बहुत अलग नहीं होगा. सर्दियों के दौरान, ये भी वापस आ सकता है.”

सर्दियों में बढ़ सकते हैं कोविड के मामले

यह एक गंभीर कथन है, जो हमें याद दिलाता है कि दुनिया को महामारी की एक और लहर से निपटने के लिए अच्छी तरह से तैयार होने की आवश्यकता है, आने वाली स्थिति अभी से अधिक गंभीर हो सकती है. यूके की मेडिकल साइंस अकैडमी में हुई एक रिसर्च के मुताबिक, इस साल सर्दी का मौसम बेहद चुनौतीपूर्ण समय हो सकता है. ऐसा माना जा रहा है कि जनवरीफरवरी 2021 में अस्पताल में मरीज़ों की संख्या के साथ मृत्यु की संख्या भी अधिक बढ़ जाएगी.

सर्दियों की तैयारी कैसे करे?

दुनियाभर के हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि आने वाले सर्दियों के मौसम में कोरोना वायरस अधिक घातक हो जाएगा. वहीं, एक सफल वैक्सीन आने में कम से कम 6 महीने का वक्त है. क्योंकि सर्दी का मौसम वैक्सीन से पहले आ जाएगा, इसलिए हमें समाज के सबसे संवेदनशील और कमज़ोर वर्गों को संक्रमण से बचाने के लिए एक ठोस रणनीति बनाने की आवश्यकता है. सर्दी के मौसम में सामाजिक दूरी, हाथों की साफ सफाई और सभी तरह की सावधानियां बरतने में किसी तरह की गलती जानलेवा साबित हो सकती है.

Leave a Reply