Thursday , October 6 2022

बार-बार उलटी आने की समस्या से हैं परेशान, तो घरेलू उपचारों से मिल सकती हैं जल्द राहत

नई दिल्ली: वॉमिटिंग यानी उलटी आना कोई बीमारी नहीं, बल्कि एक सामान्य प्रक्रिया है। जिसके लिए कुछ विशेष कारण जिम्मेदार होते हैं। आमतौर पर फूड पॉयजनिंग, पेट संबंधी कोई समस्या, किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी, माइग्रेन, गैस, बहुत देर तक खाली पेट रहने, सर्दी-जुकाम, बुखार, तनाव, किसी तरह का डर, सफर के दौरान मोशन सिकनेस या प्रेग्नेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस आदि कारणों से यह समस्या होती है। तो यहां दिए जा रहे घरेलू उपचारों से मिल सकती हैं जल्द राहत।

उल्टी होने पर एक ग्लास पानी में एक इंच कुटा हुआ अदरक और एक टेबलस्पून शहद मिलाकर पीने से तुरंत लाभ मिलता है।

  • उल्टी आने की समस्या में लौंग चूसने से भी आराम पहुंचता है।
  • जी मिचलाने पर पुदीने की चाय बनाकर पीना भी फायदेमंद होता है। इसकी पत्तियों को चबाने से भी तुरंत आराम मिलता है।
  • एक ग्लास पानी में थोड़ा सा हरी धनिया का रस, स्वादानुसार सेंधा नमक और एक नींबू निचोड़कर पीने से यह परेशानी दूर हो जाती है।
    जब भी यह परेशानी महसूस हो तो एक ग्लास पानी में डेढ़ टीस्पून जीरा पाउडर मिलाकर पीने से भी राहत मिलती है।
  • एक ग्लास पानी में आधा टीस्पून धनिया पाउडर, आधा टीस्पून सौंफ पाउडर और थोड़ी सी चीनी या मिश्री घोल कर पीने से भी लाभ होता है।
  • दो टीस्पून गिलोय के रस में जरा सी मिश्री मिलाकर दिन में तीन बार पीने का घरेलू नुस्खा आजमाया जा सकता है।
  • अगर घर में किसी को ऐसी समस्या हो तो उसे नीम की छाल में शहद मिलाकर पिलाएं, इससे थोड़ी देर में उल्टी रूक जाती है।
    एक टीस्पून तुलसी की पत्तियों के रस में एक टीस्पून शहद मिलाकर पीने से राहत मिलती है।
  • बार-बार नॉजिया महसूस हो तो प्याज के रस में शहद मिलाकर पीना भी फायदेमंद होता है।