Thursday , July 7 2022

Ind vs Eng:जाने,कोहली के लिए इंग्लैंड में क्या होगी सबसे बड़ी चुनौती

नई दिल्ली:- भारतीय टीम के पूर्व कप्तान व स्टार बल्लेबाज विराट कोहली क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में लगातार बड़े स्कोर की तलाश में हैं। इस वक्त विराट कोहली मुख्य भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड दौरे पर हैं जहां पहले टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेलना है। इसके बाद तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेली जाएगी। इंग्लैंड के खिलाफ भारत को एक जुलाई से टेस्ट मैच खेलना है जो पिछले साल खेले गए पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच है। पिछले साल कोहली की कप्तानी में इस टेस्ट सीरीज के चार मैच खेले गए थे जिसमें टीम इंडिया 2-1 से आगे थी। अब रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया को ये टेस्ट मैच खेलना है वहीं इंग्लैंड टीम की कप्तानी बेन स्टोक्स के हाथों में होगी।

विराट कोहली पिछले कुछ समय से खराब दौर से गुजर रहे हैं और आइपीएल 2022 में भी उनका प्रदर्शन कुछ ज्यादा अच्छा नहीं रहा था और उन्होंने 22.73 की औसत से 16 पारियों में 341 रन बनाए थे। वहीं विराट कोहली के प्रतिद्वंदियों में से एक जो रूट ने हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज की चार पारियों में 101.67 की शानदार औसत से 305 रन बनाए थे। कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा का मानना है कि कोहली मैदान के बाहर जो रूट के साथ अपनी प्रतिद्वंदिता के बारे में जरूर सोच रहे होंगे। हालांकि एक बार मैच शुरू होने के बाद विराट कोहली सिर्फ अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करेंगे
राजकुमार शर्मा ने एक न्यूज चैनल के साथ बात करते हुए कहा कि विराट कोहली और जो रूट दोनों ही शानदार खिलाड़ी हैं। एक स्वस्थ्य प्रतिद्वंदिता हमेशा दिमाग में होती है और इसके लिए बेशक आप होटल में हैं, ड्रेसिंग रूम में हैं आप इसके बारे में सोचते जरूर हैं। वहीं जब आप मैदान पर उतर जाते हैं तो फिर आप रन बनाने के बारे में सोचते हैं फिर आपके दिमाग में जो रूट या कोई और दिमाग में नहीं आता। उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान में विराट के लिए अपना स्वाभाविक खेल खेलना और बड़ा स्कोर बनाना आवश्यक है, जिसकी वह लंबे समय से तलाश कर रहे हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि वह जल्द ही ऐसा करेंगे क्योंकि काफी समय हो गया है।
राजकुमार शर्मा ने आगे कहा कि विराट कोहली के पूरे क्रिकेट करियर में इतना लंबा वक्त कभी नहीं आया जब वो तीन अंक के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाए हैं। उन्होंने निश्चित रूप से रन बनाए हैं और पहले उनका कनर्वजन रेट कमाल का था जब वो 30-35 रन तक पहुंच जाते थे।