Monday , August 8 2022

4 महीने में भारतीयों को मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन, जानिये क्या होगी कीमत

नई दिल्ली : दुनियाभर से अब कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबरें आने लगी हैं. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला का कहना है कि भारत में आम लोगों को ऑक्सफोर्ड की COVID-19 वैक्सीन अप्रैल से मिलने लगेगी. पूनावाला ने ये जानकारी Hindustan Times Leadership Summit 2020 में दी.

पूनावाला ने कहा कि ऑक्सफोर्ड वैक्सीन 2021 के फरवरी तक बुजुर्गों और हेल्थ केयर वर्कर्स को दी जाएगी जबकि अप्रैल तक ये आम लोगों तक पहुंच जाएगी. उन्होंने कहा कि संभावना है कि 2024 तक हर भारतीय को वैक्सीन लग जाएगी.

वैक्सीन लगने में लग सकता है समय

पूनावाला ने कहा, ‘भारत के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में दो से तीन साल तक का समय लगेगा. इसकी वजह वैक्सीन की आपूर्ति में कमी नहीं बल्कि जरूरी बजट, सही व्यव्स्था और बुनियादी ढांचे की जरूरत होगी. इसके अलावा ये लोगों की वैक्सीन लगवाने की इच्छा पर भी निर्भर करता है. पूरी आबादी के 80-90 फीसदी लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए ये सारी चीजें होनी जरूरी हैं.’

ये होगी कीमत

वैक्सीन की कीमतों पर पूनावाला ने कहा कि लोगों को इस वैक्सीन की दो डोज के लिए अधिकतम एक हजार रूपए देने होंगे, ये फाइनल ट्रायल के नतीजों और रेगुलेटरी मंजूरी पर भी निर्भर करेगा. वहीं वैक्सीन की क्षमता पर पूनावाला ने कहा कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन बुजुर्गों पर बहुत असरदार साबित हुई है.

पूनावाला ने कहा, ‘ये वैक्सीन टी सेल पर अच्छा काम करती है, जो लॉन्ग टर्म इम्यूनिटी और एंटीबॉडी रिस्पॉन्स के लिए जरूरी माना जाता है. हालांकि ये समय ही बताएगा कि ये वैक्सीन लंबे समय तक कितनी सुरक्षा दे सकती है. फ़िलहाल वैक्सीन पर इस तरह के सवालों का जवाब अभी किसी के पास नहीं है.’

फ़िलहाल नहीं है कोई गंभीर दुष्प्रभाव

सुरक्षा से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि फिलहाल वैक्सीन से जुड़ी कोई बड़ी शिकायत, गंभीर दुष्प्रभाव नहीं देखे गए हैं. हमें इंतजार करने की जरूरत है. भारत में चल रहे इसके ट्रायल के नतीजे एक-डेढ़ महीने में सामने आ जाएंगे, जिससे इसकी क्षमता और प्रभाव के बारे में और ज्यादा जानकारी मिल सकेगी.

 

Leave a Reply