Monday , August 15 2022

सर्दी हो या गर्मी एलएसी पर डटे रहेंगे हमारे सैनिक : आर्मी चीफ नरवणे

नई दिल्ली। भारत के आर्मी चीफ नरवणे ने पाकिस्तान और चीन दोनों को कड़े लहजे में चेतावनी दी। नरवणे ने कहा कि भारत सीमा पर किसी भी चुनौती से निपटने में सक्षम है और भारतीय सेना पूरी तरह तैयार है. सेना प्रमुख ने माना कि पिछले साल देश ने कई मौकों पर चुनौतियों का डटकर मुकाबला किया। सेना प्रमुख ने बताया कि पाकिस्तान और चीन दोनों ही फ्रंट पर भारत चुनौतियों का सामना कर रहा है लेकिन उनसे निपटने की तैयारियों में भी कोई कमी नहीं है।

एलएसी पर हमने अलर्ट होकर कार्रवाई की

आर्मी चीफ नरवणे ने कहा कि एलएसी पर हमने अलर्ट होकर कार्रवाई की, जिससे चीन को अगस्त में सरप्राइज मिला। उन्होंने कहा कि एलएसी पर अभी पहले जैसी तनाव की स्थिति बरकरार है। नरवणे  ने कहा कि जब चीन की तरफ से लामबंदी हुई थी वो कोई नई बात नहीं थी। पहले उनके पास एडवांटेज था। फिर अगस्त में यह अडवांटेज हमारे पास था। चीन को भी यह नहीं पता था। आगे सर्दी हो या गर्मी हम लोग ऐसे ही डटे रहेंगे, यही सरकार का निर्देश है। आर्मी चीफ ने बताया कि ईस्टर्न लद्दाख की तरह दूसरे इलाकों में जवान आमने-सामने नहीं हैं लेकिन हालात ठीक नहीं हैं. सेंट्रल कमांड और ईस्टर्न कमांड एरिया में तनाव ज्यादा है। इन इलाकों में चीन ने बहुत तेजी से नया इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाया है। इसमें नए बंकर और नई सड़कें बनाई गई हैं।

आतंकवाद उनकी नेशनल पॉलिसी में शामिल है

पाकिस्तान पर बात करते हुए नरवणे ने कहा कि आतंकवाद उनकी नेशनल पॉलिसी में शामिल है। नरवणे बोले कि पाकिस्तान लगातार आतंकवादियों को आगे बढ़ा रहा है। नरवणे ने बताया कि अब सेना उड्डयन में भी महिला पायलट होंगी। वह बोले कि एयरफोर्स और नेवी में ऐसी पायलट हैं। मैंने एक महीने पहले यह चीज पास की थी कि सेना उड्डयन में भी महिलाओं को रखा जाए।  जुलाई यानी अगले कोर्स से सेना उड्डयन में महिलाएं शामिल होंगी।

नरवणे ने इस बात पर राहत जताई कि सेना में सुसाइड के नंबर घट रहे हैं. वह बोले कि सैनिकों में सुसाइड का आंकड़ा हर साल घट रहा है। यह गलत है कि हर साल 100 या ज्यादा सैनिक सुसाइड कर रहे हैं।

Leave a Reply