Saturday , August 13 2022

जिला कारागार में बंदियों को विधिक अधिकार और पीसीएनडीटी एक्ट की दी जानकारी

रायबरेली। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ तथा जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, अब्दुल शाहिद के दिशा-निर्देशन में जिला कारागार रायबरेली में बन्दियों के विधिक अधिकार एवं पीसीपीएनडीटी एक्ट (गर्भ धारण एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक-विनियमन तथा दुरुपयोग अधिनियम) विषय पर जनपद के जिला कारागार में विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया।

सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया

कोरोना महामारी के समय सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कोविड-19 से बचाव मास्क का प्रयोग दो गज की दूरी का अनुपालन करने हेतु जागरुक किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मयंक जायसवाल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली द्वारा की गयी। सचिव द्वारा शिविर में उपस्थित बन्दियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि बन्दियों को अपने अधिकारों के प्रति जागरुक होना चाहिए जिसके लिए शिक्षा बहुत जरुरी है। समाज में महिलाएं आज भी अशिक्षा के कारण बहुत पिछड़ी है इसलिए बेटियों को पढ़ाने की अत्यधिक जरुरत है।

मोमबत्ती प्रशिक्षण व सिलाई हेतु कार्यक्रम चलाने का प्रयास

शिविर में जेल प्रशासन द्वारा स्वयंसेवी संगठनों के माध्यम से आयोजित किये जा रहे स्वालबंन कार्यक्रमों की सराहना करते हुए सभी बन्दियों को प्रोत्साहित किया गया कि वह अधिक से अधिक संख्या में उक्त कार्यक्रम का लाभ उठाये और नई-नई प्रतिभाये सीखने व उन प्रतिभाओं में पारगंत बनते हुए अपनी अजीविका का स्त्रोत बनाये। जेल प्रशासन द्वारा मोमबत्ती प्रशिक्षण व सिलाई हेतु कार्यक्रम चलाने का प्रयास किया जा रहा है जिसमें सभी बन्दियों का सहयोग आवश्यक रुप से होना चाहिए। जेल अधीक्षक ज्ञान प्रकाश द्वारा अवगत कराया गया कि यदि कोई भी बन्दी किसी भी कार्य के प्रति अपनी रुचि दिखाता है तो जेल में और भी तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरु किये जा सकते है।

उत्तर प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाए

सचिव  द्वारा पीसीपीएनडीटी एक्ट (गर्भ धारण एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक-विनियमन तथा दुरुपयोग अधिनियम) व मुखबिर योजना के सम्बन्ध में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। उत्तर प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की गई। जागरुकता शिविर में प्रभारी कारापाल अनिल कुमार विश्वकर्मा तथा उपकारापाल वन्दना गौतम एवं कुंवर वीरेन्द्र विक्रम सिंह के साथ ही जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली की पैनल अधिवक्ता लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, पराविधिक स्वयं सेवक पवन कुमार श्रीवास्तव एवं महिला पराविधिक स्वयं सेवक अमिता उपस्थित रही।

Leave a Reply