Thursday , July 7 2022

टीवी सीरियल से वारदात की ली प्रेरणा, पत्‍नी से अवैध संबंध के शक में भतीजे की हत्या

वाराणसी: अक्सर टीवी और फ़िल्मों के लिए कहा जाता है कि इनमे प्रसित होने वाले कार्यक्रम और फिल्मे आम लोगों से प्रेरित होकर बनाई जाती हैं। लेकिन कभी-कभी कोई आम व्यक्ति इन्ही कार्यकर्मो से प्रेरणा लेकर कई बड़े और गंभीर वारदात का अंजाम दे देतें हैं। ऐसा ही एक मामल सामने आया है उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जहां पत्नी से नाजायज संबंध के शक में एक चाचा अपने ही भतीजे का कातिल बन बैठा और हंसता-खेलता परिवार पल भर में बिखर गया।

मामला वाराणसी के मुरीदपुर गांव का है। जहां बदले की आग में जल रहे चाचा विनय चौबे ने सो रहे भतीजों सूरज चौबे उर्फ अमन (17 वर्ष) व बादल चौबे (14 वर्ष) पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। दोनों को अस्पताल ले जाते समय अमन की रास्ते में ही मौत हो गई, जबकि बादल की हालत गंभीर बनी हुई है। कातिल चाचा अपनी पत्नी को भी जान से मार देना चाहता था, लेकिन उसने बाथरूम में छिपकर अपनी जान बचाई। पुलिस हिरासत में कड़ाई से पूछताछ होने पर चाची श्वेता ने हत्या के राज से पर्दा उठाया। वहीं घटना के बाद से ही विनय फरार है।

लाकडाउन के चलते घर थे दोनों परिवार

स्थानीय पुलिस के अनुसार मृतक अमन के पिता जयप्रकाश अपने भाई विनय के साथ मुंबई में ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय करते थे। लाकडाउन के बाद दोनों परिवार समेत घर आ गए। यहां गांव में जयप्रकाश अपनी पत्नी रेखा, दो बेटों सूरज व बादल के अलावा भाई विनय व उसकी पत्नी श्वेता एवं उनके एक वर्षीय पुत्र के साथ रहते थे। शनिवार की रात गांव के मकान के एक कमरे में सूरज और बादल एक चारपाई पर सोए थे। वहीं श्वेता पास के कमरे में सोई थी। पुलिस के मुताबिक पत्नी और घायल बादल ने बताया कि विनय ने ही भोर में हमला किया था।

पत्नी से अवैध संबंधो के शक में किया हमला

विनय को शक था कि भतीजे सूरज का उसकी पत्नी से अवैध संबंध है। भोजन के बाद रात में विनय व श्वेता में इस बात को लेकर झगड़ा भी हुआ था। वहीं भोर में चार बजे के करीब भी दोनों में विवाद हुआ, जिसके थोड़ी देर बाद विनय कुल्हाड़ी लेकर आया और सो रहे सूरज पर टूट पड़ा। सूरज के चेहरे व गले पर एक के बाद एक कई वार किया। भाई की चीख सुन बादल जाग गया और उसे बचाने आया। विनय ने उसे भी नहीं बख्शा। उस पर भी जानलेवा वार किए। बुरी तरह घायल दोनों भाई चिल्लाते हुए कमरे से बाहर भागे। सूरज भूसे वाले कमरे में जाकर गिर पड़ा, जबकि बादल बाहर बरामदे में दादा के पास आ गया।

टीवी सीरियल से वारदात की ली प्रेरणा, पत्‍नी से अवैध संबंध के शक में भतीजे की हत्या
 

पत्नी ने बाथरूम में छिपकर बचाई जान

सूरज और बादल पर जानलेवा हमला करने के बाद आरोपी विनय पत्नी श्वेता को मारने के लिए गया, मगर उसने बाथरूम में छिपकर किसी तरह अपनी जान बचाई। उधर, दोनों पौत्रों की हालत देख दादा-दादी चीखने-चिल्लाने लगे। शोर सुनकर विनय घर के पीछे से कूद कर भाग निकला। वहीं ग्रामीण आटो से दोनों घायलों को लेकर निजी अस्पताल पहुंचे, जहां से उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। अस्पताल पहुंचने से पहले ही सूरज ने दम तोड़ दिया तो वहीं बादल की हालत नाजुक बनी हुई है। एसपी ग्रामीण मार्तंड प्रकाश सिंह ने बताया कि आरोपित की तलाश जारी है।

क्राइम पेट्रोल देख कर बना रहा था हत्या की योजना

विनय तीन महीने से हत्या की योजना बना रहा था। बच नकिलने के दांव-पेच समझने के लिए वह पिछले दो-तीन महीने से नियमित तौर पर ‘क्राइम पेट्रोल’ देखता था। पुलिस की पूछताछ में उसकी पत्नी ने बताया कि उसने एक सप्ताह पहले कुल्हाड़ी खरीदी थी। पुलिस उसके ठिकाने का पता न लगा सके, इसके लिए हत्या के बाद वह अपना मोबाइल भी घर पर ही छोड़ गया।

पारिवारिक कलह को बताई वजह

मृतक के पिता जयप्रकाश की ओर से पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक गांव के मकान को बनवाया जा रहा है। दस दिन पहले निर्माण सामग्री की ढुलाई की जा रही थी। विनय भतीजों के सिर पर अधिक वजन लाद रहा था। इसे लेकर जयप्रकाश ने विनय को डांटा था, जिसके बाद दोनों भाइयों में विवाद भी हुआ था। इसी को लेकर विनय ने उनके दोनों बेटों पर हमला किया है।

क्या बोले पुलिस अधिकारी

मामले की जानकारी देते हुए एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि मामले में आरोपति की पत्नी की भूमिका भी संदिग्‍ध है। उसे जेल भेज दिया गया है। गंभीर रूप से घायल बादल चौबे अब खतरे से बाहर है। वहीं आरोपित की तलाश की जा रही है।

 

Leave a Reply