Monday , September 26 2022

IPL 2022। ‘किलर मिलर’ का कमाल और गुजरात की बल्ले-बल्ले

ऐसे में राजस्थान ने 6 विकेट के नुकसान पर 188 रन बनाए और जोस बटलर का बल्ला भी खूब चला। ऑरेंज कैप होल्डर जोस बटलर ने 56 गेंद में 158 के स्ट्राइक रेट से 89 रनों की पारी खेली लेकिन उनकी पारी पर गुजरात के बल्लेबाजों ने पानी फेर दिया। 

गुजरात की शतकीय साझेदारी

कप्तान हार्दिक पांड्या और डेविड मिलर के बीच शतकीय साझेदारी हुई। जिसके दम पर गुजरात ने राजस्थान के खिलाफ जीत दर्ज कर फाइनल में एंट्री मारी। इतना ही नहीं डेविड मिलर ने आखिरी ओवर में 3 छक्के जड़कर नामुमकिन सी लगने वाली जीत को मुमकिन बनाया। दरअसल, गुजरात को आखिरी ओवर में जीत के लिए 16 रन की दरकार थी और प्रसिद्ध कृष्णा गेंदबाजी कर रहे थे। ऐसे में डेविड मिलर ने शुरुआती तीन गेंदों पर तीन छक्के जड़कर सभी को चौंका दिया। इस मुकाबले में डेविड मिलर ने 38 गेंद में 178 के स्ट्राइक रेट से नाबाद 68 रनों की पारी खेली। जिसमें 3 चौके और 5 छक्के शामिल हैं। जबकि हार्दिक पांड्या ने 27 गेंद में कीमती 40 रन बनाए।

खिलखिला उठी गुजरात

राजस्थान के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद हार्दिक पांड्या ने कहा कि मुझे गर्व है कि टीम में शामिल सभी 23 खिलाड़ी अलग हैं। वे सभी अलग तरह की चीजें मुकाबले में लेकर आते हैं। मैंने डेविड मिलर से सिर्फ इतना कहा कि अगर आपके आसपास अच्छे लोग हैं तो आपको अच्छी चीजें मिलती हैं।

उन्होंने कहा कि मैं देख सकता हूं कि जो खिलाड़ी अंतिम एकादश में शामिल नहीं हैं वे भी चाहते हैं कि टीम अच्छा प्रदर्शन करे। राशिद खान ने पूरे सत्र में शानदार प्रदर्शन किया लेकिन मुझे डेविड मिलर पर अधिक गर्व है। मैंने उसे कहा कि खेल का सम्मान करना चाहिए। मुंबई इंडियंस के खिलाफ हमने गलती कर दी थी और यहां चाहते थे कि खेल का सम्मान करें। हम दोनों ही मैच को खत्म करना चाहते थे।

खैर गुजरात मुकाबला जीत चुका है और राजस्थान को हार का सामना करना पड़ा है लेकिन राजस्थान के पास खुद को साबित करने का अभी एक मौका और है। एलिमिनेटर मुकाबले में जीत दर्ज करने वाली टीम का सामना राजस्थान से होगा। ऐसे में जरूरत होगी कि राजस्थान नए सिरे से रणनीति बनाकर मैदान में उतरे।

लखनऊ बनाम बेंगलोर

विराट कोहली के फॉर्म में लौटने और किस्मत के दम पर आईपीएल प्लेऑफ में नाटकीय ढंग से प्रवेश के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के हौसले बुलंद है और एलिमिनेटर मुकाबले में लखनऊ सुपर जाइंट्स को कड़ी चुनौती दे सकती है। शुरूआती मैचों में कम स्कोर के बाद विराट कोहली ने गुजरात के खिलाफ आखिरी लीग मैच में 54 गेंद में 73 रन बनाए थे। यह इस सत्र में उनका दूसरा अर्धशतक था लेकिन इसमें उन्होंने अपने चिर परिचित अंदाज में शॉट खेले और बेंगलोर की उम्मीदों को जीवंत रखा। बेंगलोर के लिए यह जीत काफी नहीं थी और उसे दूसरे मैच में दिल्ली पर मुंबई की जीत की भी दुआ करनी थी। मुंबई ने दिल्ली को हराकर बेंगलोर का प्लेऑफ का रास्ता बनाया। 

विराट कोहली के फॉर्म, दिनेश कार्तिक की एक फिनिशर के रूप में सफलता, जोश हेजलवुड, वानिंदु हसरंगा और हर्षल पटेल की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी और सीम की मददगार ईडन गार्डन की पिच पर बेंगलोर का जोश कई गुना बढा हुआ है। फॉफ डुप्लेसी की शांतचित्त कप्तानी के दम पर टीम पहला खिताब जीतने की ओर अगला कदम रखना चाहेगी। लखनऊ की बात की जाए तो टीम के पास दुष्मंता चामीरा और जेसन होल्डर जैसे अनुभवी गेंदबाज भी हैं लेकिन वे इस सत्र में लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके।

लखनऊ के सलामी बल्लेबाज कप्तान केएल राहुल और क्विंटन डिकॉक के बल्लों पर अंकुश लगाना आसान नहीं होगा जो इस सत्र की सबसे कामयाब सलामी जोड़ी रही है। दोनों मिलकर 1039 रन बना चुके हैं जिसमें 210 रन की आईपीएल के इतिहास की सबसे बड़ी सलामी साझेदारी शामिल है जो कोलकाता के खिलाफ बनाई थी। लखनऊ के पास मिडिल ऑडर और लोवर ऑडर में अच्छे बल्लेबाज नहीं है। दीपक हुड्डा को छोड़कर कोई नहीं चल सका है। मार्कस स्टोइनिस, कृणाल पंड्या, आयुष बदोनी और जेसन होल्डर नाकाम रहे हैं। ऐसे में इन खिलाड़ियों को जिम्मेदारी उठानी पड़ेगी।