Wednesday , September 28 2022

IPL 2022। अपना परचम लहराने को बेताब हैं RCB और RR

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के क्वालिफायर-2 में रॉयल चैंलेजर्स बैंगलोर और राजस्थान रॉयल्स अपनी किस्मत आजमाने को बेताब हैं। ऐसे में दोनों टीमें अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में अपना दम खम दिखाएंगी। जीतने वाली टीम को फाइनल में गुजरात टाइटंस के साथ खेलने का मौका मिलेगा। जबकि मुकाबला गंवाने वाली टीम का सफर यहीं पर समाप्त हो जाएगा।

किस्मत के बलबूते पर एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जाइंट्स से भिड़ने वाली बैंगलोर का अभी तक का प्रदर्शन शानदार रहा है। लेकिन टीम के लिए अभी भी रन मशीन कहे जाने वाले विराट कोहली का बल्ला खामोश है। हालांकि लखनऊ के खिलाफ अनकैप्ड खिलाड़ी रजत पाटिदार का बल्ला खूब बोला था और उन्होंने कई सारे रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए थे। रजत पाटिदार आईपीएल इतिहास में एकमात्र अनकैप्ड खिलाड़ी हैं जिन्होंने शतकीय पारी खेली है। इसके अलावा इस सत्र में सबसे तेज शतक भी बनाया है। 

ट्रॉफी उठाने को बेताब हैं विराट कोहली

लखनऊ के खिलाफ जीत मिलने पर बैंगलोर के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने कहा कि अच्छी बात यह है कि एक दिन बाद हमें फिर खेलना है। अहमदाबाद में फिर खेलने को लेकर बेताब हैं। हम अपने प्रदर्शन से खुश हैं और काफी रोमांचित भी। उम्मीद है कि दो मुकाबले और जीतकर जश्न मना सकेंगे।

एलिमिनेटर में अपने कैरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले रजत पाटीदार इस लय को कायम रखना चाहेंगे। आईपीएल मेगा नीलामी में बिक नहीं सके रजत पाटीदार वैकल्पिक खिलाड़ी के रूप में बैंगलोर का हिस्सा बने और एक पारी ने उनकी किस्मत बदल दी। विराट कोहली और कप्तान फॉफ डुप्लेसी दोनों बड़े मैचों के खिलाड़ी हैं और पिछले मुकाबलों में कम स्कोर के बाद अब बड़ी पारी खेलने के लिए लालायित होंगे। बैंगलोर के लिए फिनिशर की भूमिका निभा रहे दिनेश कार्तिक कुछ और रन अपने नाम करना चाहेंगे।

बैंगलोर शायद ही टीम में कोई बदलाव करना चाहे क्योंकि बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी तक में सभी खिलाड़ियों ने मिला-जुला प्रदर्शन करके दिखाया है। वानिंदु हसरंगा ने साहसी गेंदबाजी की तो आखिरी ओवरों में हर्षल पटेल का सानी नहीं है। मोहम्मद सिराज ने भी वापसी के बाद पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया। डेथ ओवरों में उम्दा गेंदबाजी की अपनी छवि के साथ जोश हेजलवुड ने न्याय किया और अब सटीक यॉर्कर के साथ उन्हें खेलना और मुश्किल हो गया है।

सैमसन को कप्तानी पारी खेलने की जरूरत

राजस्थान की बात की जाए तो पहला क्वालिफायर गंवा चुकी टीम नई रणनीति के साथ मैदान में उतरेगी। सलामी बल्लेबाज जोस बटलर और यशस्वी जायसवाल अच्छे फॉर्म में नजर आ रहे हैं। जबकि कप्तान संजू सैमसन ने इस सत्र में छोटी मगर किफायती पारियां खेली हैं और टीम की कोशिश रहेगी कि आईपीएल का खिताब उठाकर पूर्व दिवंगत कप्तान शेन वॉर्न को सच्ची श्रद्धांजलि दी जाए। 

संजू सैमसन बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। गेंदबाजों को पिछले मैच को भुलाकर नए सिरे से अच्छा प्रदर्शन करना होगा। आर अश्विन गुजरात के खिलाफ खराब फॉर्म में दिखे तो प्रसिद्ध कृष्णा ने आखिरी ओवर में डेविड मिलर को फुल लेंथ गेंद डालने की गलती की।

26 बार आपस में भिड़ी हैं दोनों टीमें

आईपीएल के इतिहास में राजस्थान और बैंगलोर की टीमें आपस में 26 बार भिड़ चुकी हैं। ऐसे में बैंगलोर का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। बैंगलोर ने राजस्थान के खिलाफ 13 मुकाबलों में जीत दर्ज की है। जबकि राजस्थान को महज 11 सफलताएं ही मिल पाई हैं। ऐसे में राजस्थान कोशिश करेगा के जीत के इस अंतर का कम किया जाए। इतना ही नहीं राजस्थान ने अपने दम पर प्लेऑफ में जगह बनाई थी। जबकि बैंगलोर की टीम किस्मत के बलबूते पर प्लेऑफ में पहुंची है।