Friday , August 12 2022

राम मंदिर को लेकर ISIS ने दी धमकी,कहा अब मत कहिएगा कि आतंक का मजहब नहीं होता

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर बनने के लिए अदालत ने मंदिर निर्माण पर मुहर लगाई, जिसके बाद से कई सियासी पार्टियों के नेताओं ने इसका विरोध किया। राम मंदिर पर पाकिस्तान को मिर्ची लग गई और अब आतंकी संगठन आईएसआईएस ने बड़ी धमकी दी।जाहिर सी बात है कि राम मंदिर के बहाने ISIS देश में अपना खूनी खेल खेलने की फिराक में है। सवाल ये है कि क्या उन्हें देश के अंदर बैठे कट्टरपंथियों का भी समर्थन हासिल है ?

Ram Mandir News in Hindi, Ram Mandir की लेटेस्ट न्यूज़, photos, videos | Zee News Hindi

इस्लामिक आतंकियों की मैगज़ीन में छपी धमकी

ISIS की मैगज़ीन में बाबरी मस्जिद मामले पर बदला लेने की धमकी दी गई है। आईएस की मैगज़ीन का टाइटिल The Voice of Hind है।  मैगज़ीन में धार्मिक भावनाओं को भड़काते हुए हथियार उठाने और जेहाद छेड़ने की बात कही गई है।  ये भी कहा गया है कि बाबरी मस्जिद मामले में रिहा हुए लोगों पर नज़र है. ये मैगज़ीन ISIS के सभी कैडर में पहुंचाई गई है. मैगज़ीन पहुंचाने में डार्क वेब और खुफिया टेलिग्राम चैनल्स का इस्तेमाल किया गया है। इतना ही नहीं मैगज़ीन ने भारतीय मुसलमानों से अदालतों के फैसले नहीं मानने की अपील की है। देश की सुरक्षा एजेंसियों की नज़र इस मैगज़ीन पर है।

Terrorist organization ISIS threatens to avenge Babri Masjid | आतंकी संगठन ISIS ने बाबरी मस्जिद का बदला लेने की धमकी दी | Hindi News, राष्ट्र

दंगा भड़काने की साजिश देश के अंदर

भारत के भीतर का माहौल बिगाड़ने की साजिश CAA और कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद से रची जा रही है. हर मुद्दे को इस्लामिक कट्टरपंथियों और सियासी जमातों ने धर्म से जोड़ कर मुस्लिमों को उकसाने की है. इसमें कश्मीर से धारा 370 हटाया जाना, राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नागरिकता संशोधन कानून में संशोधन, मुस्लिम महिलाओं के 3 तलाक जैसे मुद्दा है. जिसको आगे करके इस्लामिक कट्टरपंथी इदारों में अल्पसंख्यक आबादी को ये कह कर धोखा दिया जा रहा है कि इस्लाम खतरे में है।

ISIS की धमकी से आतंक के मजहब का हुआ खुलासा

खास बात ये है जैसे ही आप इस्लामिक आतंकी संगठनों को उनकी खूनी तकरीरों और करतूतों के लिए लानते भेजते हैं. जो कथित लिबरल हैं वो यही दलील देते हैं. लेकिन आईएस के इस्लामिक हत्यारे आपका धर्म पूछ कर ही आपको कत्ल करते हैं। पूछिए उन शियाओं (सुन्नी जिन्हें मुस्लिम नहीं मानते) से, यजीदियों से और गैर मुस्लिमों से जिनके बच्चे-महिलाएं सिर्फ इसलिए बर्बर तरीके से मार दिए गए क्योंकि वो मुस्लिम न थे।

US-led strikes kill up to 150 Islamic State fighters in Syria - The Financial Express

जाहिलियत और नफरत से भरे धर्मांधों की इससे बड़ी तस्वीर और क्या होगी? तो सच ये है कि अगर वाकई इस्लाम का भला चाहते हैं।  तो कट्टर मौलानाओं को इस वक्त राम मंदिर, तीन तलाक और सीएए जैसे मुद्दों पर गला फाड़ने और ज़हर उगलने के बजाए इस्लामिक आतंकियों के खिलाफ मुहिए छेड़नी चाहिए।  क्योंकि इस्लाम को खतरे में डालना वाले ये इस्लामिक नरपिशाच हैं. जो सिर कलम करने की शरई पाशविकता से भरे हुए हैं।

 

 

Leave a Reply