Saturday , October 1 2022
जयंत चौधरी ने RS चुनाव के किया नामांकन, अखिलेश रहे मौजूद
जयंत चौधरी ने RS चुनाव के किया नामांकन, अखिलेश रहे मौजूद

जयंत चौधरी ने RS चुनाव के किया नामांकन, अखिलेश रहे मौजूद

लखनऊ। जयंत चौधरी ने लखनऊ में राज्यसभा चुनाव के लिए राष्ट्रीय लोक दल और समाजवादी पार्टी के संयुक्त उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया। इस दौरान समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी मौजूद रहे। RLD प्रमुख जयंत चौधरी ने कहा कि प्रक्रिया हमने पूरी की है और मुझे उम्मीद है कि जिस तरह से गठबंधन मजबूती से लड़ता रहा है, एकजुटता के साथ हम आगे बढ़ेंगे। मैं अखिलेश यादव जी को, समाजवादी पार्टी को और गठबंधन के सभी कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं। मैं उत्तर प्रदेश की जनता का भी धन्यवाद देता हूं। जयंत चौधरी ने राज्यसभा भेजे जाने को अपना सम्मान बताते हुए अखिलेश यादव और गठबंधन के दूसरे दलों का आभार जताया। इसे अपने लिए सम्मान बताते हुए जयंत ने कहा कि वह यूपी के किसानों और युवाओं की आवाज को संसद में उठाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने बगावत से घिरे अखिलेश यादव से साथ निभाने का वादा किया और कहा कि उनका गठबंधन मजबूत बना रहेगा। राज्यसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने जयंत चौधरी को गठबंधन का साझा उम्मीदवार बनाया है। जयंत के अलावा पार्टी ने कांग्रेस के पूर्व नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल को उच्च सदन में भेजने का ऐलान किया है। पार्टी के तीसरे उम्मीदवार जावेद अली खान हैं।
नामांकन प्रक्रिया पूरी करने के बाद जयंत चौधरी ने कहा, ”मुझे उम्मीद है कि जिस तरह गठबंधन मजबूती से लड़ता रहा है। एकजुटता के साथ हम आगे बढ़ेंगे। मैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी और गठबंधन के सभी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देता हूं। जनता ने और सपा और गठबंधन ने जो आशीर्वाद दिया है वह हमेशा याद रहेगा। यूपी के प्रतिनिधि के तौर पर मैं यहां के मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाऊंगा।”
हाल ही में पेश हुए यूपी के बजट को लेकर जयंत ने कहा कि शिक्षा का बजट दूसरी राज्यों की तुलना में कम है, कृषि पर 2 फीसदी से कम बजट दिया गया है। शिक्षा, किसान और ग्रामीण विकास पर हम पिछड़ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा इसे खूब प्रचारित करेगी, लेकिन हकीकत इससे अलग है।
नामांकन के बाद उन्होंने कहा कि जो भी हमारे साझे मुद्दे हैं, या फिर यूपी के किसानों के मुद्दे हैं, वे सब सदन में पुरजोर तरीके से उठाउंगा। चौधरी ने योगी सरकार के बजट को हवा-हवाई बताया है।