Saturday , October 1 2022

कश्मीर का मुद्दा गंभीर, लेकिन उस पर कोई बात नहीं करना चाहता

दावोस। पाकिस्तान की विदेश राज्यमंत्री मंत्री हिना रब्बानी खार ने मंगलवार को कश्मीर के मुद्दे को ऐसा विषय करार दिया “जिसके गंभीर होते हुए भी कोई उस पर बात नहीं करना चाहता।” उन्होंने कहा कि “70 वर्ष पुराने मसले’ के समाधान के बिना दक्षिण एशिया को एक करने और व्यापार को बढ़ाने का कोई भी प्रयास सफल नहीं होगा। विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक 2022 के ‘दक्षिण एशिया का रणनीतिक दृष्टिकोण’ सत्र के दौरान पूछे गए सवाल के जवाब में खार ने यह बयान दिया।

चर्चा में शामिल एक सदस्य ने टिप्पणी की, कि भारत अब पाकिस्तान से ज्यादा चीन के प्रति चिंतित है। इस पर खार ने कहा, “मैं चीन को जाहिर तौर पर एक नजदीकी पड़ोसी और बड़े क्षेत्र के हिस्से के तौर पर देखती हूं जिसके हम सब हिस्से हैं।

इसके साथ ही, मैं चीन के प्रति भारत के विरोध का समर्थन नहीं करती हूं, उसी प्रकार जैसे मैं किसी के भी प्रति विरोध का समर्थन नहीं करती।