Wednesday , September 28 2022

समस्त दूषित पानी को शोधित करने का उद्देश्य :केजरीवाल

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को यहां कोरोनेशन पिलर स्थित देश के सबसे बड़े जलमल शोधन संयंत्र (एसटीपी) का निरीक्षण किया और कहा कि उनकी सरकार का उद्देश्य समस्त दूषित जल को यमुना में बहाने से पहले शोधित करने का है। पूर्ण स्वचालित एसटीपी में एक दिन में सात करोड़ गैलन दूषित जल का शोधन हो सकेगा और फिलहाल यहां परीक्षण चल रहा है।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘हमने दिल्ली की जनता से वादा किया है कि हम 2025 से पहले यमुना को साफ करेंगे। इस दिशा में हम समस्त दूषित पानी का शोधन करेंगे, उसके बाद ही पानी को यमुना में बहाया जाएगा।