Monday , September 26 2022

मानसून के दौरान तैरना: जानें किन-किन संक्रमण का बढ़ता है ख़तरा

नई दिल्ली: मानसून के आने से कई तरह के इन्फेक्शन का डर बढ़ जाता है। सड़कों और घर के आसपास पानी भर जाना, मौसम में नमी, पीने के पानी का दूषित होना और यहां तक कि स्विमिंग पूल्स के ज़रिए भी कई बीमारियों और इन्फेक्शन का ख़तरा बढ़ जाता है।

अगर आप अक्सर स्विमिंग करते हैं, तो बरसात का मौसम आपके लिए दिक्कत पैदा कर सकता है। तैरने से कई लोगों को ज़ुकाम हो सकता है, साथ ही अगर पानी दूषित है तो कई तरह के इन्फेक्शन हो सकते हैं।

पब्लिक स्विमिंग पूल में संक्रमण का ख़तरा
मानसून में बीमारियां आम तो हो ही जाती हैं, लेकिन स्विनिंग पूल का इस्तेमाल इन बीमारियों के जोखिम को और बढ़ा सकता है। खासतौर पर पब्लिक स्विंमिंग पूल का इस्तेमाल करते वक्त दस्त, स्किन इन्फेक्शन आम बात है। दूसरे लोगों से इन्फेक्शन लगने के साथ स्विमिंग पूल के आसपास की चीज़ें भी संक्रमण का कारण बन सकती हैं।

लोगों को पूल में इन्फेक्शन कैसे हो जाता है?
औसतन, किसी भी समय लोगों के शरीर में लगभग 0.14 ग्राम मल होता है। जब कोई ऐसा व्यक्ति जिसे दस्त है, पूल में जाता है, तो इससे उस पूल में मौजूद सभी लोग संक्रमित हो सकते हैं। इसके अलावा पूल से क्रिप्टोस्पोरिडियम, लेजिओनेला, स्यूडोमोनस, नोरोविरिस, शिगेला, ई. कोली और गिआर्डिया जैसे कई रोगजनकों से संक्रमित हो सकते हैं।

तैराकी से कान का इन्फेक्शन
इस इन्फेक्शन को स्विमरिस इयर कहते हैं। जो कान का इन्फेक्शन है, जो कान के बाहरी कनाल में देर तक पानी जमा होने की वजह से हो सकता है। नमी और पानी का संचय बैक्टीरिया के लिए प्रजनन स्थल प्रदान करता है। अगर आप तैरने के बाद कानों को अच्छी तरह से साफ नहीं करते हैं, तो आपको स्विमर्स इयर हो सकता है। यह आमतौर पर छोटे बच्चों या फिर उन लोगों को होता है जो रोज़ स्विमिंग करते हैं।
मानसून में इन्फेक्शन से बचने के लिए क्या करें?
सुरक्षित तरीके से स्विंमिंग करने से आप स्वस्थ रहेंगे और इसके लिए इन बातों का ख्याल रखें:

  • पानी में क्लोरीन के स्तर को चेक करें।
  • अगर आपके किसी तरह की चोट लगी है, तो पानी में न उतरें।
  • अगर आपको बुखार, ज़ुकाम या फिर खांसी है तो पूल में न जाएं।
  • पूल में उतरने से पहले शॉवर ज़रूर लें और दूसरों को भी प्रोत्साहित करें
  • अगर आप दस्त से जूझ रहे हैं, तो पूल में न जाएं।
  • पूल का पानी न निगलें।
  • पूल में उतरते वक्त फिटेड कपड़े ही पहनें।