Thursday , July 7 2022

जानिए कौन है वो जिसे इंदिरा गांधी ने लिया था गोद, अब योगी सरकार संवार रही है जीवन

कुशीनगर: लगभग चार दशक पहले देश की प्रधानमंत्री रहीं इंदिरा गांधी ने एक हादसे के बाद दो भाई बहन को गोद लिया था। साथ ही इंदिरा ने दोनों बच्चों को गोद लेकर उनके भरण-पोषण का वादा भी किया था, लेकिन समय बीतने के साथ दोनों को भुला दिया गया। लेकिन अब जिला प्रशासन उसी सोनकली के जीवन को संवारने का निर्णय किया है। जिला प्रशासन उनके पुत्र व पुत्री को पढ़ाने की व्यवस्था करेगी। अंत्योदय राशनकार्ड बनेगा और सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा। बुधवार को नारायनपुर गांव पहुंचे जिलाधिकारी भूपेंद्र एस चौधरी ने परिवार को शासन की हर जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है।

नारायनपुर कांड के बाद 1980 में लिया था गोद

1980 में हुए नारायनपुर कांड के बाद गांव में पहुंचीं तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने हादसे में मृत बांसकली के आठ वर्षीय पुत्र जयप्रकाश और छह वर्षीय पुत्री सोनकली को गोद लेने की घोषणा की थी। साथ ही दोनों को दिल्ली ले जाकर भरण-पोषण का वादा भी किया था, लेकिन समय बीतने के साथ दोनों को भुला दिया गया।

गाँव के भी आ सकतें हैं अच्छे दिन

बुधवार को जिलाधिकारी ने अन्य ग्रामीणों से भी बात की। लोगों ने पोखरी पर अतिक्रमण, ट्रांसफार्मर की खराबी व गांव की सड़क पर जलभराव की शिकायत की। जिलाधिकारी ने एसडीएम व लेखपाल को दो दिन में अतिक्रमण हटवाने, डीपीआरओ को जलनिकासी की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि सोनकली के साथ-साथ गाँव के भी अच्छे दिन आ सकतें हैं।

Leave a Reply