Saturday , May 21 2022

लेबनान विस्फोट में दो सौ से अधिक लोगों ने गवाई जान, जानिए कैसे हुआ धमाका

लखनऊ: लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार की रात को जो विस्फोट हुआ उसको देखकर लोगों के बीच सनसनी फ़ैल गई है। इतना भयानक विस्फोट शायद ही इससे पहले कभी लोगों ने देखा होगा। जानकारी के अनूसार इस विस्फोट का कारण अमोनियम नाइट्रेट बताया गया है।

घटना के बाद अब एक बड़ा सवाल ये भी उठ रहा है कि इतनी बड़ी संख्या में अमोनियम नाइट्रेट आया कहां से? साथ ही ऐसा क्या हुआ जिससे इतना बड़ा विस्फोट हो गया। जानते हैं क्या होता है अमोनियम नाइट्रेट और किस वजह से हुआ इतना बड़ा धमाका।

क्या है अमोनियम नाइट्रेट

अमोनियम नाइट्रेट, अमोनिया और नाइट्रोजन से मिलकर बनाया जाता है। अमोनियम नाइट्रेट एक गंधहीन सफेद रंग का केमिकल पदार्थ है जिसका कई कामों में इस्तेमाल होता है। इसका सबसे ज्यादा इस्तमाल दो कामों में होता है पहला खेती के लिए खाद के तौर पर और दूसरा निर्माण या खनन कार्यों में विस्फोटक के तौर पर। ये बहुत विस्फोटक केमिकल होता है, आग लगने पर इसमें जबरदस्त धमाका होता है,और धमाके बाद ख़तरनाक गैस निकलने लगती हैं।

लेबनान विस्फोट: क्या है इसके पीछे का कारण

इसलिए इसके रख-रखाव के लिए दुनिया भर में कड़े नियम बनाए गए हैं। इन नियमों में खासतौर से इस बात का ख्याल रखना होता है की  जहां अमोनियम नाइट्रेट रखा जा रहा हैं वो जगह आग से पूरी तरह से सुरक्षित हो। क्योंकि ऐसा देखा गया है कि कई बार तापमान और अन्य केमिकल के रिएक्शन से भी आग लग जाती है और धमाके हो जाते हैं।

कैसे हुआ लेबनान में धमाका 

जानकारों के अनुसार,  ये धमाका किसी न किसी की लापरवाही की वजह से हुआ है। किसी ने यहां पर जलता हुआ कुछ फेंका होगा या बिजली की लाइनों में शार्ट सर्किट की वजह से चिंगारी उठी होगी, इस चिंगारी के फेके जाने के बाद ये विस्फोट हुआ। जो वीडियो सामने आया उसमें ये दिख रहा है कि पहले हल्की चिंगारी दिखती है, तारों में स्पार्किंग की आवाज सुनाई देती है उसके कुछ सेकंड के बाद जोरदार धमाका हुआ जिसको देखकर लोगों के पैरो  तले जमीन खसक गई।

दो सौ से अधिक लोगों की गयी जान 

लेबनान की राजधानी बेरूत में बंदरगाह के पास वेयरहाउस में जो धमाका हुआ, उसकी आवाज बेरूत से लगभग 250 किलोमीटर दूर साइप्रस तक सुनाई दी। इस विस्फोट से अब तक दो सौ से अधिक लोगों की जान जा चुकी है और 5000 से अधिक लोग किसी न किसी तरह से घायल हुए हैं। आसपास के इलाके की सभी बिल्डिंगों के शीशे पूरी तरह से टूटकर बिखर गए हैं, इसके अलावा अन्य नुकसान भी हुए हैं।

कहां से आया 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट

बेरूत बंदरगाह के इस गोदाम में लगभग 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट रखा गया था। बताया जाता है कि कुछ साल पहले इसे इसी बंदरगाह पर जब्त किया गया था उसके बाद इसे यहां रख दिया गया। इसी अमोनियम नाइट्रेट में किन्हीं वजहों से आग लगी जिससे इतना बड़ा धमाका हुआ।

लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने वेयरहाउस को कहा खतरनाक

यह वेयरहाउस साल 2014 से बना था। घटना से जिस तरह से नुकसान हुआ है उसको देखते हुए लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दियाब ने इस वेयरहाउस को खतरनाक कहा है।उन्होंने कहा की इस घटना के जिम्मेदार लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा। लेबनान में धमाके के बाद अब इस बात की जांच की जा रही है कि आखिर वेयरहाउस में रखे अमोनियम नाइट्रेट में आग कैसे लगी।

Leave a Reply