Tuesday , September 27 2022
काशी विश्वनाथ मंदिर पर विवादित बयान देने वाले LU के प्रोफेसर के साथ मारपीट
काशी विश्वनाथ मंदिर पर विवादित बयान देने वाले LU के प्रोफेसर के साथ मारपीट

काशी विश्वनाथ मंदिर पर विवादित बयान देने वाले LU के प्रोफेसर के साथ मारपीट

लखनऊ। काशी विश्वनाथ मंदिर पर विवादित बयान देने वाले लखनऊ विश्वविद्यालय के डॉ. रविकांत से एक छात्र नेता ने प्रॉक्टर ऑफिस के सामने ही हाथापाई की। इस दौरान उसने डॉ रविकांत को कई थप्पड़ जड़ दिए। गौरतलब है कि डॉ रविकांत ने पहले ही पुलिस में तहरीर देकर जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया था। उन्होंने थप्पड़ मारने वाले छात्र का नाम कार्तिक पांडे बताया।
उन्होंने बताया कि दोपहर एक बजे वह न्यू लॉ में अपनी क्लास लेने जा रहे थे। तभी वह छात्र नेता आया उनका रास्ता रोका और मारने लगा। डॉ रविकांत ने बताया कि वह सामने आया तो ऐसे नहीं लग रहा था कि हमला करेगा। पहले वह नमस्कार की मुद्रा में नीचे झुका और उसके तुरंत बाद उसने हमला कर दिया। डॉ रविकांत के साथ दो गार्ड भी थे वह भी स्थिति का अंदाजा नहीं लगा पाए। बाद में दोनों गार्ड ने हमला करने वाले छात्र को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि मेरे मामले में लखनऊ विश्वविद्यालय और प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की, इस कारण उन पर यह हमले हो रहे हैं।गौरतलब है कि सुबह लखनऊ विश्वविद्यालय में कई जगह पोस्टर लगे मिले, जिस पर लिखा था कि बाबा काशी विश्वनाथ एवं साधु संतों पर अभद्र टिप्पणी करने वाले एसोसिएट प्रोफेसर पर कार्यवाही कब?
काशी विश्‍वनाथ मंदिर पर विवादित बयान को लेकर चर्चा में आए लखनऊ विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डा. रविकांत चंदन के साथ छात्र नेता ने मारपीट की है। उन्‍होंने समाजवादी छात्र सभा लखनऊ विश्वविद्यालय इकाई के अध्यक्ष कार्तिक पांडेय पर मारपीट का आरोप लगाया है। घटना दोपहर एक बजे की है। फिलहाल पुलिस कार्तिक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
बीते 10 मई को लखनऊ विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर डा. रविकांत चंदन ने काशी विश्वनाथ मंदिर को लेकर विवादित बयान दे दिया था। इसको लेकर उनका काफी विरोध हो रहा है। बुधवार को विश्वविद्यालय खुलने के बाद दोपहर एक बजे शिक्षक डा. रविकांत चंदन अपनी कक्षा में पढ़ाने जा रहे थे। उनके साथ सुरक्षा गार्ड भी मौजूद था। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि चीफ प्राक्टर कार्यालय के सामने समाजवादी छात्र सभा के इकाई अध्यक्ष कार्तिक पांडेय ने उनके साथ मारपीट की। इस दौरान सुरक्षा गार्ड ने कार्तिक को पकड़ लिया।
घटना की सूचना मिलते ही चीफ प्राक्टर कार्यालय के अन्य सुरक्षा गार्ड और कर्मचारी बाहर निकल आए। शिक्षक के साथ हुई घटना की सूचना पूरे विश्वविद्यालय में फैल गई। आनन-फानन में विश्वविद्यालय चौकी से आए पुलिस कर्मी छात्र कार्तिक को पकड़ कर अपने साथ ले गए। वहीं, इस घटना के बाद डा. रविकांत चंदन चीफ प्राक्टर कार्यालय में मौजूद हैं। उनकी तरफ से लिखित शिकायत दर्ज की जा रही है। मौके पर पुलिस भी तैनात है।
प्रोफेसर राकेश द्विवेदी, चीफ प्राक्टर, लखनऊ विश्वविद्यालय ने कहा कि शिक्षक डा. रविकांत चंदन की ओर से छात्र के खिलाफ लिखित रूप से शिकायत दर्ज की जा रही है। उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
राहुल तिवारी, चौकी प्रभारी, लखनऊ विश्वविद्यालय ने कहा कि शिक्षक ने अभी लिखित रूप से कोई भी तहरीर नहीं दी है। कहा है कि वह अपने माध्यम से भिजवाएंगे। फिलहाल छात्र को हिरासत में ले लिया गया है।
आरोपित छात्र का कहना है कि वह विश्वविद्यालय परिसर में था। रास्ते में हिन्दी विभाग के प्रो. रविकांत चंदन ने मुझे गालियां दीं। उनके साथ वाले व्यक्ति ने मुझ पर पानी की बोतल से हमला किया। मजबूरन हमारे बीच मारपीट हुई।