Wednesday , June 7 2023

घटिया निर्माण करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करते हुए दर्ज होगी FIR

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी सूर्य पाल गंगवार ने नगर निगम, जल निगम, बिजली विभाग, लोक निर्माण विभाग और स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों के साथ मिलकर बैठक की। बैठक कर उन्होंने सिटी में चल रहे कार्यों की समीक्षा की। बैठक में जिलाधिकारी ने शहर के मुख्य सड़कें जैसे:-लाटूश रोड, शिवाजी मार्ग, टी०एन० रोड, डी०एन० वर्मा रोड, गुइन रोड, जगत नारायन रोड, नजीराबाद रोड, नब्बीउल्लाह रोड, किदवई रोड, लिबर्टी सिनेमा से बालाकदर रोड, कंचन मार्ग खुनखुनजी रोड चौक आदि मुख्य मार्गों पर स्मार्ट सिटी के तहत लम्बित अधूरे कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए गए कि समस्त अधूरे लम्बित कार्य 31 मार्च से पहले पूरे कर लिए जाए।

व्यापार बन्धु समिति की आहूत बैठक में व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा यह प्रकरण उठाया गया था कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रहे कार्यों से कई बाजारों में सडकों को लम्बे समय से खोदकर छोड दिया गया है जैसे लाटूश रोड, हीवेट रोड आदि । यह शहर की व्यस्ततम बाजारें हैं इससे व्यापारियों एवं आम नागरिकों को काफी दिक्कतें होती हैं। जिसके क्रम में आज जिलाधिकारी श्री सूर्य पाल गंगवार द्वारा नगर निगम, जल निगम, बिजली विभाग, लोक निर्माण विभाग एवं स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों एवं स्मार्ट सिटी के अधीन कार्य करने वाले ठेकेदारों के साथ एक बैठक आहूत की गयी । बैठक में जिलाधिकारी द्वारा शहर की व्यस्त सड़कों पर अधूरे पडे कार्यों की क्रमवार समीक्षा की गयी है । बैठक में ज़िलाधिकारी द्वारा निम्नवत दिशा निर्देश दिए गए :-

1) बैठक में जिलाधिकारी द्वारा शहर के मुख्य सड़कों जैसे:-लाटूश रोड, शिवाजी मार्ग, टी०एन० रोड, डी०एन० वर्मा रोड, गुइन रोड, जगत नारायन रोड, नजीराबाद रोड, नब्बीउल्लाह रोड, किदवई रोड, लिबर्टी सिनेमा से बालाकदर रोड, कंचन मार्ग खुनखुनजी रोड चौक आदि मुख्य मार्गों पर स्मार्ट सिटी के तहत लम्बित अधूरे कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए गए कि समस्त अधूरे लम्बित कार्य 31 मार्च से पहले पूर्ण किया जाए। सम्बन्धित ठेकेदारों को सख्त चेतावनी जारी करते हुए जिलाधिकारी द्वारा कहा गया कि अधूरे कार्यों को पूर्ण करने हेतु चाहे 20 टीमें लगाकर 24 घण्टे कार्य करना पडे किन्तु अधूरे कार्यों को हर हाल में 31 मार्च से पहले पूर्ण किया जाए।

2) ज़िलाधिकारी द्वारा जो ठेकेदार लापरवाही कर रहे है उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उन्हें ब्लैक लिस्ट करने की कार्यवाही करने हेतु नगर निगम के अधिकारियों को सख्त लहजे में निर्देशित किया गया। साथ ही निर्देश दिया कि सम्बन्धित विभाग जैसे:- नगर निगम, जल निगम, पी0डब्लू0डी०, बिजली विभाग आदि अपने-अपने विभाग से सम्बन्धित कार्यदायी संस्था व सम्बन्धित ठेकेदारों से 31 मार्च से पूर्व अधूरे कार्यों को पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। नागरिकों को हो रही असुविधाओं की तरफ सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट करते हुए जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों की लापरवाही पर उनके खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की बात कही गयी।

3) बैठक में सभी सम्बन्धित विभागों में समन्व्य स्थापित करने हेतु जिलाधिकारी द्वारा पी0डब्लू0डी०, बिजली विभाग, जल निगम व नगर निगम आदि की एक कोआरडिनेट कमेटी का गठन किए जाने के निर्देश दिए जिसमें प्लानिंग के तहत कार्य किए जाने पर बल दिया जिससे बार-बार रास्तों की खुदाई न किए जाए। सभी विभाग मिलकर उस रोड पर होने वाले कार्य एक साथ करें जिससे वह रोड जल्दी-जल्दी खराब न हो।

4) बैठक में उपस्थित व्यापारियों द्वारा बताया गया कि लाटूश रोड पर लोक निर्माण विभाग द्वारा रोड कटिंग करके छोड़ दी गई है जिससे कि आवागमन बाधित होता है। जिसके सम्बन्ध में विभाग द्वारा बताया गया कि कार्य लगभग पूरा हो गया है बस रोड का रेस्टोरेशन करना बाकी है। ज़िलाधिकारी द्वारा कार्य पूरा करने की समय सीमा की जानकारी मांगी गई, जिसके सम्बन्ध में विभाग द्वारा बताया गया कि कार्य पिछले वर्ष ही पूरा होना था परंतु डेडलाइन को बढ़ाया गया था। जिसके सम्बंध में ज़िलाधिकारी द्वारा कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देश दिए गए कि जब भी किसी सार्वजनिक स्थल पर कोई कार्य शुरू किया जाए तो सम्बंधित विभागों जैसे नगर निगम या एलडीए आदि से अनापत्ति लेना सुनिश्चित किया जाए और कार्य को तय समय सीमा के अंदर ही समाप्त करना सुनिश्चित किया जाए। कार्य मे देरी करने के सम्बंध में ज़िलाधिकारी द्वारा कार्यदायी संस्था श्यामा कंस्ट्रक्शन को कड़ी फटकार लगाते हुए युद्धस्तर पर कार्य को करते हुए अगले 7 दिनों में कार्य पूरा करने के निर्देश दिए। अन्यथा फर्म को ब्लैक लिस्ट करते हुए FIR दर्ज कराने के निर्देश दिए गए।

5) उक्त के बाद व्यापारियों द्वारा अवगत कराया गया कि शिवाजी मार्ग पर भी सीवरलाइन का कार्य चल रहा है और जलभराव की भी समस्या है। जिसके सम्बन्ध में ज़िलाधिकारी द्वारा जल निगम को कड़े निर्देश दिए कि आज शाम तक जल निकासी कराते हुए जलभराव खत्म कराया जाए और अगले 7 दिनों में कार्य को पूरा करना सुनिश्चित किया जाए अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहे।

6) लोक निर्माण विभाग द्वारा बताया गया कि शिवजी मार्ग पर जो सीवर लाइन का कार्य किया गया है उसमें कुछ जगह सीवर लाइन लीकेज की समस्या आ रही है। जिससे रोड के रेस्टोरेशन के बाद रोड खराब हो जा रही है। जिसके सम्बन्ध में ज़िलाधिकारी द्वारा नाराज़गी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए गए कि अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग निरीक्षण करते हुए अपनी आख्या उपलब्ध कराए और यदि लिकझो रहा है तो जल कल विभाग ठेकेदार के विरुद्ध FIR कराना सुनिश्चित करे।

7) ज़िलाधिकारी द्वारा गुइन रोड पर पड़ने वाले आवासीय परिसरों को पानी कनेक्शन देने हेतु जल निगम को निर्देश दिए गए। नक्खास मार्केट में एल०डी०ए० की जमीन में निर्धारित पार्किंग के स्थान में निर्मित अवैध दुकानों एवं चन्दन नगर मार्केट में हुए अवैध कब्जों को गिराने के सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किए जाने के बाद कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। जयप्रकाश नगर से पकरी का पुल व खजाना मार्केट के पास अधूरे कार्यों को जल्द पूरे किए जाने के निर्देश दिए गए।

8) ज़िलाधिकारी द्वारा बैठक में कड़े निर्देश दिए गए कि निर्माण कार्यो में गुणवत्ता का अत्यधिक ध्यान दिया जाए। सभी विभाग अपने अपने क्षेत्रों में होने वाले निर्माण कार्यो/विकास कार्यो का निरीक्षण करना सुनिश्चित करे। गुणवत्ता में यदि कोई भी कमी पाई जाए या कोई रोड निर्माण के बाद धस जाती है तो उस ठेकेदार को बख्शा नही जाएगा। घटिया निर्माण करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करते हुए FIR दर्ज कराई जाएगी। उक्त के साथ ही मालवीय नगर से राजाजीपुरम तक जल भराव की समस्या के सम्बन्ध में निर्देश दिए कि नगर निगम तत्काल जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित कराए।

9) अन्त में जिलाधिकारी द्वारा सम्बन्धित विभागीय अधिकारियो को समझाते हुए कहा गया कि आम नागरिक को जनसुविधाओं का अधिकार हैं। अधिकारियों को पेशेवर रूख अपनाते हुए नागरिकों को होने वाली असुविधाओं को निम्नतम स्तर तक ले जाना है। उपस्थित व्यापारियों से कहा वह भी अपने बाजारों में साफ-सफाई एवं अन्य जनसुविधाओं का ध्यान रखें ।

उक्त बैठक में नगर आयुक्त, अपर नगर आयुक्त, अपर जिलाधिकारी नगर पूर्वी, लखनऊ व्यापार मंडल अध्यक्ष श्री अमरनाथ मिश्रा, अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री सुरेश छाबलानी, प्रदेश उपाध्यक्ष आकाश गौतम एवं समस्त व्यापारीगण, नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, जलकल विभाग सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं ठेकेदार उपस्थित रहे।