Wednesday , July 6 2022

Lucknow: न्याय के लिए दर – दर भटक रहा परिवार

लखनऊ। एक बार फिर राजधानी पुलिस के कार्य प्रणाली पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं।लखनऊ में कमिश्नरी सिस्टम लागू किया गया लेकिन पुलिस की कार्यशैली नहीं बदली। पिछले 2 सालों से पीड़ित परिवार थाने से लेकर मुख्यमंत्री से   न्याय की गुहार लगा चुका है। पीड़ित को दर-दर की ठोकर के अलावा कुछ नहीं मिला।

पूरा मामला लखनऊ के गुडंबा थाना क्षेत्र ग्राम कपासी का है। विक्रम कुमार नामक युवक 15 अगस्त 2018 को गायब हुआ था। पीडित परिवार गुडंबा थाना चौकी इंचार्ज वह दरोगा पर बेटे को गायब करने वा हत्या का गंभीर आरोप लगा रहा है। पीड़ित परिवार का कहना कि जिन लोगों को हमने FIR में नामजद किया है उनके ऊपर पुलिस मेहरबान बनी हुई है। परिवार का कहना है नवनीत, विशाल, आरती, बबीता, से अगर पुलिस कड़ाई से पूछताछ करे तो राज खुल सकता है ।

मां का कहना है कि मेरे बेटे के अपहरण के एक साल बाद मेरे बेटे की बाइक चुस्त-दुरुस्त अवस्था में मिली। अगर पुलिस ने इस मामले को कभी गंभीरता से लिया होता तो सच्चाई समाने आ जाती मगर ऐसा नही किया।परिवार का आरोप है कि पुलिस मामले में आरोपियों का साथ दे रही ।

 

छेड़खानी से तंग होकर खुदकुशी करने वाली किशोरी का तीसरे दिन हुआ अंतिम संस्‍कार

 

 

 

रिपोर्ट- सचिन तिवारी

Leave a Reply