Sunday , August 7 2022

Webinar : आत्मनिर्भर भारत- व्यक्तिगत निवेश की आवश्यकता पर बौद्धिकजनों ने रखे विचार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विश्व इन्वेस्टर सप्ताह के अवसर पर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी), एसोसिएशन ऑफ म्यूच्यूअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) और लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम (एलआईएफ) के संयुक्त तत्वावधान में आत्मनिर्भर भारत : व्यक्तिगत निवेश की आवश्यकता विषयक पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश सरकार के विधि मंत्री बृजेश पाठक उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व कुलपति, बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय और वर्तमान चेयरमैन उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा परिषद प्रो. जी. सी. त्रिपाठी ने की। मुख्य वक्ता के तौर पर एएमएफआई के सीनियर कंसल्टेंट सूर्यकांत शर्मा और एनएसडीएल के वाइस प्रेसिडेंट नितिन जोशी व दैनिक जागरण के प्रदेश प्रमुख आशुतोष शुक्ला उपस्थित रहे। वेबिनार के ऑरगेनाइजिंग सेक्रेटरी और लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के अध्यक्ष डॉ. वीएन मिश्रा, लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के जनरल सेक्रेटरी डॉ. आनंद सिंह, लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के वाइस प्रेसिडेंट डॉ. पुनीत कुमार और एनसीएफई के रिसोर्स पर्सन डॉ. संजय कुमार अग्रवाल ने भी अपने-अपने विचारों को व्यक्त किया।

छोटी-छोटी बचत के जरिए करें व्यक्तिगत निवेश : डॉ. वी.एन. मिश्रा

वेबिनार का प्रारंभ लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के अध्यक्ष डॉ. वी.एन. मिश्रा ने किया। उन्होंने आत्म निर्भर भारत और व्यक्तिगत निवेश की आवश्यकता पर अपने विचार रखते हुए कहा कि छोटी-छोटी बचत के जरिए व्यक्तिगत निवेश पर बल देना चाहिए और भारत की सामाजिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक समरसता को बनाए रखना चाहिए।

व्यक्तिगत निवेश करते समय बरतें सावधानियां

वेबिनार को आगे बढ़ाते हुए मुख्य वक्ता सूर्यकांत शर्मा ने कहा कि व्यक्तिगत निवेश करते समय कुछ सावधानियों को ध्यान में रखना चाहिए जैसे कि व्यक्तिगत निवेश सोच समझ कर करना चाहिए और निवेश करते समय सभी कागजात की अच्छी तरह से जांच कर लेनी चाहिए। वहीं, एनएसडीएल के वाइस प्रेसिडेंट नितिन जोशी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि व्यक्तिगत निवेश जितनी जल्दी शुरू की जाएगी उतना ही अधिक फायदा लोगों को मिलेगा।

ऑल राउंड डेवलपमेंट की आवश्यकता

वेबिनार के मुख्य अतिथि विधि मंत्री बृजेश पाठक ने अपने विचार रखते हुए कहा कि भारत को आत्म निर्भर बनाने के लिए ऑल राउंड डेवलपमेंट की आवश्यकता है और स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए. इसके साथ ही समय समय पर बौद्धिकजनों द्वारा ऐसे वेबिनार और सेमिनार का आयोजन किया जाना चाहिए। उन्होंने इस वेबिनार के आयोजन के लिए लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के अध्यक्ष डॉ. वी.एन. मिश्रा का विशेष आभार व्यक्त किया।

सोशल नेटवर्किंग साइट्स विचार हों साझा

अपने अध्यक्षीय भाषण में उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन प्रो. जी.सी. त्रिपाठी ने कर्तव्य और अधिकार पर जोर देते हुए धर्म में अर्थ के महत्व को समझाया और राष्ट्र निर्माण में व्यक्तिगत निवेश पर बल दिया। कार्यक्रम की अगली कड़ी में आशुतोष शुक्ला ने कहा कि व्यक्तिगत निवेश के लिए लोगों को जागरूक करना आवश्यक है, जिसके लिए सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर विशेषज्ञों के विचारों को लोगो तक पहुंचाया जाना चाहिए। उन्होंने मुद्रा लोन, पर्सनल लोन आदि के द्वारा निवेश पर बल दिया।

युवाओं को कुशल बनाना ही सबसे बेहतर रास्ता : डॉ. आनंद सिंह

वहीं, लखनऊ इंटेलेचुअल फोरम के जनरल सेक्रेटरी डॉ. आनंद सिंह ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के उद्देश्य की प्राप्ति के लिए युवाओं को कुशल बनाना ही सबसे बेहतर रास्ता है। इसके साथ ही छोटी-छोटी बचत के जरिए व्यक्तिगत निवेश करके आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार किया जा सकता है.

Leave a Reply