Friday , August 12 2022
महाराष्ट्र सरकार ने लगाई वैक्सीनेशन अभियान पर रोक, जानिए क्या है विवाद
महाराष्ट्र सरकार ने लगाई वैक्सीनेशन अभियान पर रोक, जानिए क्या है विवाद

महाराष्ट्र सरकार ने लगाई वैक्सीनेशन अभियान पर रोक, जानिए क्या है विवाद

मुंबई : कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत 16 जनवरी से हो चुकी है. इसी बीच महाराष्ट्र सरकार ने इस अभियान पर दो दिनों के लिए रोक लगा दी है. इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि कोविन ऐप में तकनीकी खराबी आने के कारण राज्य में 18 जनवरी तक के लिए वैक्सीनेशन अभियान पर रोक लगा दी गई है.

दरअसल बीते दिन महाराष्ट्र में कुल 18323 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया, लेकिन देर शाम कोविन ऐप में कमी आने के कारण इस अभियान को 18 जनवरी तक के लिए निलंबित कर दिया गया है. हालांकि यहां कल 28500 कर्मियों को टीके की खुराक देने का लक्ष्य रखा गया, जिसे 18232 लोगों को टीका देने के बाद ही रोकना पड़ा.

केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर CoWIN ऐप को शुरू किया है. वैक्सीनेशन के पहले चरण में इस नेटवर्क से जुड़े 80 लाख लोगों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी. इस ऐप के जरिए भारत के स्वास्थ्य डेटा को एक जगह पर एकत्रित करने में मदद मिलेगी. CoWIN से कोरोना टीकाकरण की रियल टाइम निगरानी, वैक्सीन के स्टॉक्स से जुड़ीं सूचनाएं, उन्हें स्टोर करने के तापमान और जिन लोगों को वैक्सीन लगनी है, उन्हें ट्रैक करने जैसे काम होंगे. अब तक 79 लाख से ज्यादा लाभार्थियों ने CoWIN पर रजिस्ट्रेशन कराया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, टीकाकरण अभियान के पहले दिन देश में 1.91 लाख लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि वैक्सीनेशन के लिए 3,351 सेंटर बनाए गए थे. इन वैक्सीनेशन सेंटर पर 16,755 लोगों की ड्यूटी लगाई गई. महाराष्ट्र की बात करें तो यहां पर 285 सेंटर्स पर कोरोना की वैक्सीन शनिवार से लगनी शुरू हुई. महाराष्ट्र में शनिवार को करीब 28 हजार 500 हेल्थवर्कर को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया था.

Leave a Reply