Saturday , August 13 2022

महात्मा गांधी के परपोते का निधन, कोरोना से हुए थे संक्रमित

जोहांसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका में रह रहे महात्मा गांधी के परपोते सतीश धुपेलिया का कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद निधन हो गया है। तीन दिन पहले ही सतीश ने 66वां जन्मदिन मनाया था। इसके बाद वे संक्रमित हो गए थे। सतीश जोहानेसबर्ग में रहते थे। उनकी बहन उमा धुपेलिया ने भाई की मौत की पुष्टि की है। जानकारी के मुताबिक, सतीश को कुछ दिन पहले निमोनिया के चलते हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। इसके बाद उन्हें कोरोना हो गया। इलाज के दौरान उनकी हालत बिगड़ती गई। रविवार रात उन्होंने अंतिम सांस ली। सतीश मशहूर फोटो जर्नलिस्ट रह चुके हैं।

उमा ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि मेरे प्यारे भाई एक महीने तक निमोनिया से पीड़ित होने के बाद कोरोना की चपेट में आने से मर गए हैं। उमा के अलावा, धुपेलिया की एक और बहन हैं, कीर्ति मेनन, जो जोहान्सबर्ग में रहती हैं, वो वहां गांधी की याद में विभिन्न परियोजनाओं में सक्रिय हैं। तीन भाई-बहन मणिलाल गांधी के वंशज हैं, जिन्हें महात्मा गांधी ने अपना काम जारी रखने के लिए दक्षिण अफ्रीका में छोड़ दिया था।

धुपेलिया, जिन्होंने अपना अधिकांश जीवन मीडिया में बिताया, विशेष रूप से एक वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर के रूप में, गांधी विकास ट्रस्ट को डरबन के पास फीनिक्स सेटलमेंट में महात्मा द्वारा शुरू किए गए काम को जारी रखने में सहायता करने के लिए भी बहुत सक्रिय थे। वह सभी समुदायों में जरूरतमंदों की सहायता के लिए लोकप्रिय थे। साथ ही वे कई सामाजिक कल्याण संगठनों में भी सक्रिय थे।

Leave a Reply