Friday , October 7 2022
MP : इंदौर के दो मंजिला मकान में भीषण आग, 7 लोग जिंदा जले
MP : इंदौर के दो मंजिला मकान में भीषण आग, 7 लोग जिंदा जले

MP : इंदौर के दो मंजिला मकान में भीषण आग, 7 लोग जिंदा जले

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में बीती रात भीषण अग्निकांड हो गया। यहां विजय नगर क्षेत्र में स्वर्णबाग कालोनी की एक बिल्डिंग में आग लगने से सात लोगों की मौत हो गई। मृतकों में छह पुरुष और एक महिला शामिल है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, विजय नगर थाना क्षेत्र की दो मंजिला बिल्डिंग में देर रात तीन बजे भीषण आग लगी थी। सूचना मिलते ही आला अधिकारी और फायर ब्रिगेड के वाहन मौके पर पहुंचे। जल्द ही आग पर काबू पा लिया गया, लेकिन तब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी थी। मृतकों के नाम इश्वर सिंह सिसोदिया, नीतू सिसोदिया, आशीष, गौरव और आकांक्षा है, दो मृतकों के नाम का पता नहीं चल पाए हैं। घायलों के नाम फिरोज, मुनिरा, विशाल प्रजापति, अरशत और सोनाली पवार है, जिनका एमवाय अस्पताल में इलाज जारी है। बिल्डिंग में रहने वाले सभी किराएदार थे। शार्ट सर्किट की वजह से आग लगने की आशंका जताई गई है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर हादसे में मृत लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। एफएसएल और एमपीइबी की टीम मौके पर जांच करने पहुंचे और यहां से पैनल निकाला।
इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि स्वर्ण बाग कालोनी पूरी तरह से अवैध है। मकान मालिक पर पुलिस प्रशासन केस दर्ज करने की तैयारी कर रहा है। पुलिस किसी भी षड़यंत्र के साथ ही आग लगने के कारणों की बारिकी से जांच कर रही है।
दो मंजिला बिल्डिंग में आग से सात लोगों की मौत की घटना के बाद बिल्डिंग को सील कर दिया गया है। फारेंसिक विभाग की टीम जांच के लिए सुबह ही मौके पर पहुंच गई थी। पुलिस जांच कर रही है कि आग कैसे लगी। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस कमिश्नर हरिनारायणाचारी मिश्रा, विधायक महेंद्र हार्डिया मौके घटनास्थल पर पहुंचे हैं। उन्होंने वहां पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। कलेक्टर मनीष सिंह भी एमवाय अस्पताल में घायलों के हालचाल जानने हॉस्पिटल पहुंचे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा, मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ अग्निकांड अत्यंत दुखद है। इस त्रासदी में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति मैं गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। इसके साथ ही सभी घायलों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा, इंदौर के स्वर्ण बाग कालोनी में शार्ट सर्किट से हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के असमय निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह गहन दुख सहन करने की शक्ति देने तथा घायलों को शीघ्र स्वस्थ करने की प्रार्थना करता हूं। इंदौर में आग लगने की घटना में मौत की खबर अत्यंत ह्रदय विदारक है। मैंने इसके जांच के आदेश दे दिए हैं। जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये दिए जाएंगे।
खबरों के अनुसार, रात को बिजली गुल हो गई थी, लेकिन जब बिजली आई तो पार्किंग के मीटर में आग लग गई थी। मृतकों में एक दंपती भी शामिल है, जो तीन दिन पहले ही यहां शिफ्ट हुए थे। इस दंपती का पडोस में ही मकान बन रहा था, इसलिए उन्होंने यहां पर किराए से मकान लिया था।
प्रत्यक्षदर्शी एहसान पटेल ने बताया कि रात तीन बजे के करीब हमें शोर सुनाई दिया। बाहर देखा तो बिल्डिंग में आग लगी हुई थी। हमने बाल्टियों से आग बुझाने का प्रयास किया। इस बिल्डिंग में मेरा भाई रहता है। इसके अलावा कुछ छात्र व अन्य परिवार भी रहते हैं। तीन चार दिन पहले कुछ मेहमान भी आए थे।
फायर ब्रिगेडकर्मी के अनुसार हमें रात करीब तीन बजे सूचना मिली कि विजय नगर की स्वर्णबाग कालोनी में दो मंजिला भवन में आग लगने की सूचना मिलने के बाद तुरंत टीम रवाना हो गई थी। यहां आग पर तुरंत काबू पा लिया गया, लेकिन कुछ लोगों की मौत हो चुकी थी। माना जा रहा है कि बिल्डिंग के पार्किंग में लगे मीटर में शार्ट सर्किट के कारण आग लगी थी। यह आग वाहनों में लग गई, जिससे इसने विकराल रूप ले लिया। उन्होंने बताया कि बिल्डिंग में छात्रों के साथ ही परिवार भी रहते थे।