Thursday , October 6 2022

स्वच्छता मिशन हुआ फेल, सामुदायिक शौचालय के नाम पर ग्रामीणों से ठगी

मऊ . मऊ जनपद के विकासखंड रानीपुर ग्रामसभा पचिस्ता मोलनापुर मे शासन के ग्रामीण अंचल के लोगों को साफ सुथरा रखने और गंदगी फैलाने वाली बीमारियों से बचाने के लिए गांव-गांव में सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया था। ग्रामसभा पचिस्ता मोलनापुर में नवनिर्मित सामुदायिक शौचालय का ताला नहीं खुल सका है ।ऐसे में गांव में स्वच्छता की अलख जगाने की मुहिम फेल होती दिख रही है स्वच्छता मिशन पर अधिकारियों की लापरवाही भारी पड़ रही है लाखों रुपए से बनाए गए शौचालय का संचालन नहीं शुरू हुआ है। ग्रामसभा पचिस्ता मोलनापुर में सामुदायिक शौचालय अभी अपूर्ण हैं।

ग्राम सभा पचिस्ता मोलनापुर – योगी सरकार द्वारा जा स्वच्छ भारत अभियान को लेकर हर ग्राम सभाओं में सामुदायिक शौचालय बनवाया गया लेकिन ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी के द्वारा मिली भगत से सरकारी धन का बंदरबांट किया गया वही कहीं – कहीं सामुदायिक पर लटक रहा ताला । सामुदायिक शौचालय का न तो गड्ढा खोदा गया है और ना ही शौचालय के अंदर सीट टाइल्स लगी है। नहीं टंकी की व्यवस्था की गई है।

जिसपर सामुदायिक शौचालय का पूर्व भुगतान हो चुका है जिसका आरोप वर्तमान ग्राम प्रधान पारस यादव ग्रामीणों द्वारा लगाया गया कि पूर्व प्रधान व सचिव विनय कुमार के समय हुआ है वहीं जब सामुदायिक शौचालय के चाबी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि चाबी पूर्व प्रधान प्रेमचंद के पास है। प्रधान जी द्वारा यह कहा गया कि इस सामुदायिक शौचालय से मुझे कुछ मतलब नहीं है इसका पूरा कार्य ग्राम सचिव विनय कुमार व पूर्व प्रधान के कार्यकाल में लगभग 2 साल पहले हुआ है।

रिपोर्टराजीव शर्मा