Friday , October 7 2022

विपक्षी पार्टीयों पर बरसीं मायावती, कहा- उनका रवैया संसद और संविधान को शर्मसार करने वाला

लखनऊ: संसद में कृषि संबंधी बिल को लेकर मचे घमासान के बीच बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने संसद में किसान बिल पारित होने के दौरान हुए हंगामे पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने ट्वीट कर विपक्षी नेताओं के व्यवहार पर कड़ी नाराजगी जताते हुए निशाना साधा है। मायावती ने कहा है कि सदन में विपक्ष का जो व्यवहार देखने को मिला वह संविधान और संसद की मर्यादा को तार-तार करने वाला है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि, ‘वैसे तो संसद लोकतंत्र का मन्दिर ही कहलाता है फिर भी इसकी मर्यादा कई बार तार-तार हुई है। वर्तमान संसद सत्र के दौरान भी सदन में सरकार की कार्यशैली और विपक्ष का जो व्यवहार देखने को मिला है वह संसद की मर्यादा, संविधान की गरिमा और लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला…अति-दुःखद।’

बता दें कि रविवार (20 सितंबर) को राज्यसभा में किसान बिल पारित कराने के दौरान विपक्षी सांसदों ने काफी शोर-शराबा और हंगामा किया था। टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने तो उप सभापति के आसान के पास जाकर रूल बुक तक फाड़ दी थी।

रविवार से जारी है हंगामा

रविवार की घटना के बाद से सदन सुचारू रूप से नहीं चल सका है। हालांकि मंगलवार को सरकार ने सात विधेयक उच्‍च सदन से पास करा लिए। विपक्षी सांसदों का कहना है कि अगर नए कृषि विधेयकों पर उनकी तीन मांगें केंद्र सरकार द्वारा पूरी नहीं की जाती हैं तो वह संयुक्त रूप से सत्र का बहिष्कार करेंगे। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि जब तक विपक्ष की मांगें पूरी नहीं होंगी, वो सत्र का बहिष्कार करेंगे। उन्होंने मंगलवार को कहा कि जब तक हमारे सांसदों के बहिष्कार को वापस नहीं लिया जाता और किसान के विधेयकों से संबंधित हमारी मांगों को नहीं माना जाता, विपक्ष सत्र का बहिष्कार करेगा।

Leave a Reply