Saturday , October 1 2022
बसपा प्रमुख मायावती ने ज्ञानवापी मामले पर कहा कि इस तरीके के माहौल से देश में शांति सौहार्द के माहौल को बिगाड़ने का काम किया जा रहा है।
बसपा प्रमुख मायावती ने ज्ञानवापी मामले पर कहा कि इस तरीके के माहौल से देश में शांति सौहार्द के माहौल को बिगाड़ने का काम किया जा रहा है।

महंगाई के मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए धार्मिक स्थलों को बनाया जा रहा निशाना : मायावती

लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती ने ज्ञानवापी मामले पर कहा कि इस तरीके के माहौल से देश में शांति सौहार्द के माहौल को बिगाड़ने का काम किया जा रहा है। जिस तरीके से बेरोजगारी बढ़ रही है, महंगाई आसमान छू रही है, उससे ध्यान भटकाने के लिए बीजेपी और उनके सहयोगी दल के लोग धार्मिक भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे है। आजादी के वर्षों बाद धार्मिक स्थलों को निशाना बनाया जा रहा है, जो बहुत गलत है। बसपा प्रमुख मायावती के कहा- षड्यंत्र के तहत लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काया जा रहा है। इससे अपना देश मजबूत नहीं, बल्कि कमजोर ही होगा। इस पर बीजेपी को ध्यान देने की जरूरत है। इसके साथ ही एक धर्म विशेष के तहत नाम परिवर्तन के मामले पर इससे देश में शांति और भाईचारे के माहौल खत्म होगा। मायावती ने जनता को सतर्क रहने के साथ-साथ कहा कि इस तरीके के बयानबाजी और धार्मिक माहौल से सभी को सतर्क रहना होगा।
मायावती ने कहा, यह किसी से छिपा नहीं है कि बीजेपी द्वारा धार्मिक स्थलों को निशाना बनाया जा रहा है। इससे कभी भी देश के हालात बिगड़ सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि आजादी के इतने वर्षों के बाद ज्ञानवापी, मथुरा, ताजमहल व अन्य स्थलों के मामले में षडयंत्र के तहत लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काया जा रहा है। इससे अपना देश मज़बूत नहीं होगा, BJP को इस पर ध्यान देने की जरूरत है।
मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेस में बोलते हुए कहा कि विशेष कर एक धर्म समुदाय से जुड़े स्थानों के नाम बदलने की प्रक्रिया से अपने देश में शांति, सद्भाव नहीं बल्कि द्वेष की भावना उत्पन्न होगी। कहा कि जिस तरीके से बेरोजगारी और आसमान छू रही महंगाई पर ध्यान भटकाने के लिए बीजेपी व उनके सहयोगी दल के लोग धार्मिक भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे है। धार्मिक स्थलों को जो निशाना बनाया जा रहा है वह बहुत ही गलत है।
इस दौरान मायावती ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि, इससे देश की आम जनता और सभी धर्मों के लोग जरूर सतर्क रहें। इससे न तो देश का भला होगा और ना ही आम जनता का इससे भला होगा। कहा कि, बसपा की लोगों से इस मामले में यही अपील है कि वो आपसी भाईचारा कायम रहे।