Thursday , July 7 2022

Mission Shakti Abhiyan शुरू होते ही 14 दरिंदों को फांसी,20 को आजीवन कारावास

लखनऊ। प्रदेश में लगातार महिलाओं और बच्चियों के साथ हो रहे अपराध को लेकर अब योगी सरकार के मिशन शक्ति अभियान शुरू किया है । अपराधियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू कर दी गई है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए नवरात्र के पहले दिन से शुरू हुए अभियान के तहत अब तक 14 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है।

Image
महिलाओं और बच्चियों के साथ हो रहे अपराध

 

यूपी में मिशन शक्ति शुरू होने पर प्रदेश सरकार ने महिलाओं और -बच्चों के खिलाफ अपराध करने वाले को मिली सजा के आंकड़े जारी किए हैं। जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एक साल में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध करने वाले 14 दोषियों को फांसी की सजा करवाई गई है। ये सजा 11 मामलों में हुई है।

मिशन शक्ति अभियाना
मिशन शक्ति अभियानाज

22 अभियुक्तों को जेल और जुर्माने की सजा

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि आठ मामलों में 22 अभियुक्तों को जेल और जुर्माने की सजा करवाई गई है। इस दौरान ऐसे 28 मामलों में ट्रायल ही नहीं शुरू हो पा रहा था। इनमें 30 अभियुक्तों को अपराधों की पत्रावलियां सुपुर्द करवाई गई हैं। महिला और बच्चों के खिलाफ अपराध से जुड़े 88 मामलों में 117 अभियुक्तों की जमानत खारिज करवाई गई। वहीं, 41 गुंडों को जिला बदर भी करवाया गया।

20 को आजीवन कारावास

वहीं, 11 मामलों में 20 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा भी करवाई गई, 54 मामलों में 62 अभियुक्तों की फाइलें सुपुर्द करवाई गईं। 101 गुंडों को जिला बदर कर 347 अभियुक्तों की जमानतें खारिज करवाई गईं। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि मिशन शक्ति के दौरान महिलाओं और बच्चों से अपराध करने वालों पर और शिकंजा कसने के साथ अभियोजन कार्यवाही और तेज की जाएगी।

यह भी पढ़ें

 

शिवपाल यादव का बड़ा बयान, बोले – 2022 में भाजपा की सरकार को उखाड़ फेकेंगे

 

रिश्तो का खून : भाई ने भाई की निर्मम हत्या

Leave a Reply