Saturday , August 13 2022
कोरोना वैक्‍सीन से नहीं हार्ट अटैक से हुई सरकारी अस्‍पताल के वार्ड ब्‍वॉय की मौत
कोरोना वैक्‍सीन से नहीं हार्ट अटैक से हुई सरकारी अस्‍पताल के वार्ड ब्‍वॉय की मौत

कोरोना वैक्‍सीन से नहीं हार्ट अटैक से हुई सरकारी अस्‍पताल के वार्ड ब्‍वॉय की मौत

मुरादाबाद: मुरादाबाद जनपद में 6 केंद्र बनाये गये हैं, कोरोना टीकाकरण की शुरुआत वाले दिन यहां 100 -100 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया गया था उनमे से एक वॉर्ड ब्वॉय महिपाल सिंह थे जिनकी कोरोना का टीका लगवाने के बाद मौत हो गई थी. परिवार ने आरोप लगाया था कि टीका लगने के बाद उसकी तबीयत बिगड़ गई थी जिसके बाद उसकी मौत हो गई . लेकिन अब खबर आयी है कि महिपाल नाम के वॉर्ड ब्वॉय की मौत हार्ट अटैक से हुई थी. तीन डॉक्टर के पैनल ने महिपाल के शव का पोस्टमार्टम किया था. 16 जनवरी को उसे कोविशील्ड का टीका लगा था लगा था और अगले दिन यानी 17 जनवरी को उसकी अचानक मौत हो गई थी.

जिला अस्पताल में वॉर्ड ब्वॉय महिपाल सिंह को 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगाया गया था. परिवार का आरोप है कि टीका लगाने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई. इसके बाद महिपाल को तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन कल जिला अस्पताल में ही उन्होंने दम तोड़ दिया.

महिपाल की मेडिकल जांच भी नहीं की गई

परिवार का आरोप है कि टीका लगाने के पहले महिपाल की मेडिकल जांच भी नहीं की गई थी. महिपाल की मौत के बाद उसके परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे मुरादाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी एससी गर्ग ने कहा है कि महिपाल को सीने में जकड़न और साँस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था.

मौत कोरोना का टीका लगाने से ही हुई

वही महिपाल सिंह के बेटे ने कहा कि जो भी हुआ है वो वैक्सीन के कारण हुआ है. इसके लिए जो भी लोग टीका लगवा रहे हैं, उन्हें जिम्मेदार मानता हूं. वहीं महिपाल के एक और रिश्तेदार ने भी कहा कि उनकी मौत कोरोना का टीका लगाने से ही हुई है. पहले हालत इतनी खराब नहीं थी, वैक्सीन लगाने से पहले कोई मेडिकल जांच भी नहीं की गई. यहाँ वैक्सीन लगवाने आये कुछ लोग ऐसे भी थे जो कोरोना संक्रमण काल में कोरोना से संक्रमित हुए थे.

Leave a Reply