Wednesday , May 25 2022

निर्भया केस : दोषियों की फांसी की तारीख टलने के आसार

निर्भया के गुनहगारों की फांसी की तारीख टलने के आसार दिख रहे हैं। एक दोषी मुकेश ने दिल्ली हाईकोर्ट में फांसी पर रोक की याचिका खारिज होने के बाद पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी डाली थी। आज सुनवाई के बाद दोषी के वकील ने बताया कि मुकेश की दया याचिका लंबित है ऐसे में जेल मैनुअल के हिसाब से उसे 22 जनवरी को फांसी नहीं होनी चाहिए।

कोर्ट ने कहा कि उसके संज्ञान में आया है कि तिहाड़ प्रशासन ने दया याचिका दाखिल होने की बात कहकर दोषियों की फांसी टालने के लिए सरकार को खत लिखा है और नई तारीख की मांग की है। आपको बता दें कि केस की सुनवाई की शुरुआत में एमिकस क्यूरी (न्याय मित्र) वृंदा ग्रोवर ने बताया कि इस केस में दो मामले सामने आए हैं- एक मुकेश की क्यूरेटिव पिटीशन खारिज हो गई और दूसरी, दया याचिका फाइल की गई है। ग्रोवर ने ये भी बताया कि राष्ट्रपति के पास मुकेश की दया याचिका लंबित है।

जज ने यह भी नोट किया कि हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता को निचली अदालत में याचिका डालने की आजादी दी है ताकि ट्रायल कोर्ट को इस बात की जानकारी हो सके कि डेथ वारंट जारी करने के बाद केस में क्या प्रगति हुई है। जज ने कहा कि उन्हें अपना आदेश रिव्यू करने का अधिकार नहीं है।

जज ने आगे कहा कि इस कोर्ट को जो बात बताई गई है कि दया याचिका फाइल की गई है इसलिए फांसी नहीं हो सकती, ये बताना काफी नहीं है। इसीलिए जज ने तिहाड़ प्रशासन को जेल मैनुअल के नियम 840 और 863 के साथ ही विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा। जिसके लिए जेल प्रशासन ने शुक्रवार को रिपोर्ट जमा करने पर हामी भरी है।

Leave a Reply