नॉर्थ ईस्ट की एक्ट्रेस को बॉलीवुड में स्पा गर्ल और वेश्याओं के रोल मिलते हैं : लिन

लिन ने फिल्म में प्र‍ियंका की दोस्त बेम बेम की भूमिका निभाई

0 6

मुंबई। मैरी कॉम जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं मणिपुरी अभिनेत्री-मॉडल लिन लैशराम ने कहा कि बॉलीवुड फिल्मों में पूर्वोत्तर की अभिनेत्रियों को स्पा गर्ल, वेश्या या वेटर के रोल दिए जाते हैं। उन्होंने कहा, जब पूर्वोत्तर के सफल व्यक्ति का रोल करने की बात आती है तो गैर-पूर्वोत्तर व्यक्ति को लिया जाता है जैसा (फिल्म) मैरी कॉम में दिखा।

मूल रूप से मण‍िपुर की रहने वाली एक्ट्रेस लिन लैशराम ने कहा कि 2014 में फिल्म की कास्ट‍िंग के दौरान भेदभाव किया गया। एक इंटरव्यू में लिन ने इस पर ट‍िप्पणी की है। लिन ने कहा कि फिल्म में प्र‍ियंका ने बहुत मेहनत की है पर किसी नॉर्थ-ईस्ट या कहें मण‍िपुरी लड़की को भी चुना जा सकता था तो हमारा प्रतिनिध‍ित्व कर सकती थी। मालूम हो लिन ने फिल्म में प्र‍ियंका की दोस्त बेम बेम की भूमिका निभाई थी।

लिन ने कहा कि मैं प्र‍ियंका की कड़ी मेहनत की सराहना करती हूं, वे मैरी कॉम की तरह दिखने के लिए घंटों समय बिताती थीं, पर मुझे लगता है फिल्म में कास्ट‍िंग स्टेप बहुत जरूर है। मुझे लगता है कि फिल्म की प्रमाण‍िकता के लिए, मण‍िपुर या नॉर्थ ईस्ट की लड़की जो हमें रिप्रेजेंट करती, को कास्ट किया जा सकता था। जब नॉर्थ ईस्ट की किसी अचीवर के रोल को प्ले करने की बारी आती है तब किसी गैर-नॉर्थ ईस्ट के व्यक्त‍ि को चुना जाता है जैसा कि मैरी कॉम मे देखा गया। वहीं दूसरी ओर, क्यों नॉर्थ ईस्ट के लोगों को आम भारतीय की तरह किसी फिल्म में नहीं लिया जाता है।

लिन ने आगे द फैमिली मैन 2 की कास्ट‍िंग पर कहा कि लेटेस्ट उदाहरण द फैमिली मैन 2 का है। शो में तमिलनाडु और तमिल बोलने वालों को कास्ट किया गया, ताकि कल्चर को रिप्रेजेंट कर सके और उसे बहुत अच्छा रिस्पॉन्स मिला, सभी को सराहा गया, तो अगर साउथ इंड‍ियन कल्चर स्वीकार्य है तो नॉर्थ ईस्टर्न क्यों नहीं।

इससे पहले भी लिन ने जाति भेदभाव को लेकर अफसोस जाह‍िर किया था। उन्होंने बताया था कि जब वे मुंबई में अपने कम्पाउंड में थीं तब एक आदमी ने उन्हें कोरोनावायरस कहकर बुलाया था और जब तक वे वहां से नहीं गईं तब तक उcoronaनपर तंज कसता रहा था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.