Friday , July 1 2022

अब इस तरह 2 घंटे 30 मिनट में तय करें, दिल्ली से लखनऊ का सफर

नोएडा: देश की दो सबसे बड़ी राजधानियों दिल्ली-लखनऊ के बीच सफ़र करना अब और भी आसान होने वाला है। एक तरफ जहां देश की राजधानी दिल्ली तो वहीं दूरी तरफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बीच सफ़र करने वालें लोगों ख़ास कर उन व्यपारियों के लिए जो हफ्ते या महीने में लखनऊ से दिल्ली या दिल्ली से लखनऊ के बीच अपने व्यापर को लेकर सफ़र करतें हैं। उनके लिए रेलवे इस यात्रा को और सरल और जल्दी खत्म होने वाली यात्रा बनानें वाली है। दिल्ली से लखनऊ तक का सफ़र अब ट्रेन के जरिये सिर्फ ढाई घंटे में किया जा सकेगा। है ना चौंकाने और हैरान करने वाली खबर, लेकिन यह सच है।

दरअसल, अगले कुछ सालों में दिलवालों की दिल्ली से लखनऊ की मेहमान नवाजी वो भी सिर्फ ढाई घंटे में की जा सकेगी। दोनों शहरों के बीच की 500 किमी की दूरी ढाई घंटे में सिमटने जा रही है। दिल्ली वाराणसी हाई स्पीड ट्रेन यात्रा समय को कम करेगी। इस ट्रैक का निर्माण तीन चरण में होगा। 2026 तक परियोजना पूरी हो जाएगी।

गौतमबुद्धनगर में बनाए जाएंगे 2 स्टेशन

बता दें कि दिल्ली से वाराणसी के बीच हाई स्पीड ट्रेन चलाने की योजना है। इसका रूट यमुना एक्सप्रेस वे, लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे व गंगा एक्सप्रेस वे के साथ होगा। गौतमबुद्धनगर में हाई स्पीड ट्रेन के दो स्टेशन होंगे। पहला स्टेशन नोएडा सेक्टर-148 में तो दूसरा जेवर एयरपोर्ट पर।

मात्र 21 मिनट में दिल्ली से पहुंचेंगा जेवर

इस स्पीड ट्रेन परियोजना की सबसे बड़ी खासियत यह होगी कि दिल्ली से वाराणसी की दूरी महज चार घंटे में पूरी हो जाएगी। दिल्ली में सराय काले खां से शुरू होने वाली हाई स्पीड ट्रेन नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक मात्र 21 मिनट में पहुंचा देगी। जबकि दिल्ली से आगरा पहुंचने में ट्रेन को 54 मिनट लगेंगे। लखनऊ तक ढाई घंटे और वाराणसी तक चार घंटे में पहुंचा जा सकेगा। हर बीस मिनट में रूट पर हाई स्पीड ट्रेन की सुविधा मिलेगी।

816 किमी की होगी कुल यात्रा

रूट की कुल लंबाई 816 किमी होगी। दिल्ली से आगरा की रूट 195 किमी का होगा, जबकि आगरा से लखनऊ 316 किमी, लखनऊ से प्रयागराज 185 किमी व प्रयागराज से वाराणसी 122 किमी होगा। रूपहले चरण में दिल्ली से आगरा, दूसरे में आगरा से लखनऊ व तीसरे में लखनऊ से वाराणसी तक काम होगा।

इस रूट में नोएडा, नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, मथुरा, आगरा, कन्नौज, लखनऊ, राय बरेली, इटावा, प्रयागराज, भदोही स्टेशन होंगे। नेशनल हाई स्पीड रेल कारपोरेशन लिमिटेड परियोजना की विस्तृत रिपोर्ट तैयार करा रहा है। यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में एयरपोर्ट स्टेशन होने की वजह से मास्टर प्लान मांगा गया है। प्राधिकरण अधिकारियों का कहना है कि मास्टर प्लान की जानकारी जल्द कॉरपोरेशन को उपलब्ध कराई जाएगी।

Leave a Reply