Wednesday , May 25 2022

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मामले में असदुद्दीन ओवैसी ने ली चुटकी

हैदराबाद: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस में चल रहे राष्ट्रीय अध्यक्ष की समस्या पर उस समय टिप्पणी की जब सोशल मीडिया में कांग्रेस के कई नेता राहुल के ‘बीजेपी के साथ सांठगांठ’ वाले बयान पर अपनी नाराज़गी जाता रहे थें। ओवैसी ने गुलाम नबी आज़ाद पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, “गुलाम नबी आज़ाद जब कभी हैदराबाद आते मुझपर और मेरी पार्टी पर इल्जाम लगाते कि आप भाजपा का साथ दे रहे हैं भाजपा की ‘बी’ टीम हैं। आज उनकी पार्टी के राहुल गांधी ने उन्हें कहा है कि आपने पार्टी लेटर पर साइन कर भाजपा का साथ दिया।”

क्या कहा था राहुल ने

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली में चल रहे कांग्रेस की CWC की बैठक में राहुल ने अपने वरिष्ट नेताओं पर यह आरोप लगया था कि उन्होंने चुनावों भाजपा की सहायता की थी। राहुल ने अपने पार्टी के साथियों पर ‘बीजेपी के साथ सांठगांठ’ की भी बात कही इस बयान के बाद कांग्रेस के कई नेताओं ने राहुल की इस बात पर विरोध जताया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मामले में असदुद्दीन ओवैसी ने ली चुटकी

गुलाम नबी आज़ाद ने की इस्तीफे की पेशकश

राहुल के बयान से आहत होकर गुलाम नबी आज़ाद ने इस्तीफे की पेशकश कर दी, उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी ट्वीट कर इस बात पर दुःख जताते हुए कहा कि,”राहुल गांधी कहते हैं कि हमारी बीजेपी के साथ सांठ-गांठ है. राजस्थान हाईकोर्ट में पार्टी को सफलता दिलाई. मणिपुर में बीजेपी के खिलाफ पूरी ताकत से पार्टी का बचाव किया. पिछले 30 सालों में बीजेपी के पक्ष में एक भी बयान नहीं दिया. फिर भी हम पर बीजेपी से सांठ-गांठ का आरोप लग रहा है।”

इसके बाद कपिल सिब्बल ने अपने ट्वीटर प्रोफाइल से ‘कांग्रेस’ हटा लिया। उनके इस ट्वीट के कुछ समय बाद एक दूसरा ट्वीट आया जिसमें उन्होंने अपने पहले ट्वीट को डिलीट करते हुए कहा कि,”राहुल गांधी ने खुद मुझसे कहा है कि जो बात उनसे जोड़कर कही जा रही है वह गलत है. इसलिए मैं अपना पहले का ट्वीट डिलीट कर रहा हूं।”

इस सरे विवाद के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर अफ़वाहों पर ध्यान न देने की बात कही उन्होंने कपिल सिब्बल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कहा कि,”‘कृपया, फर्जी विमर्श अथवा गलत सूचना फैलाए जाने से गुमराह मत होइए. परंतु हमें एक दूसरे से लड़ने और कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने के बजाय अधिनायकवादी मोदी सरकार से लड़ने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।”

 

Leave a Reply