Friday , August 12 2022
टीकाकरण को लेकर लोगों का उत्साह, फूल-मालों से वैक्सीन का किया स्वागत
टीकाकरण को लेकर लोगों का उत्साह, फूल-मालों और पटाखों से वैक्सीन का किया स्वागत

टीकाकरण को लेकर लोगों का उत्साह, फूल-मालों से वैक्सीन का किया स्वागत

नई दिल्ली। भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका शुभारंभ किया। लद्दाख में तैनात इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) के लगभग 20 स्वास्थ्यकर्मियों को शनिवार को कोरोना टीका लगा। टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि वो आज बहुत खुश हैं, वैक्सीन कोरोना के खिलाफ जंग में संजीवनी का काम करेगी।

भारत ने पहले पोलियो और चेचक के खिलाफ जंग जीती है और अब भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के निर्णायक दौर में पहुंच चुका है। गौरतलब है कि पहले चरण में तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा। डीसीजीआइ ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और स्वदेशी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को  इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी है।

छत्तीसगढ़ के जशपुर में कोरोना वैक्सीन का फूल-माला, बैंड-बाजा और पटाखों के साथ स्वागत किया गया। स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ताओं ने शहर के जय स्तम्भ चौक से वैक्सीन वाले वाहन के साथ-साथ पैदल भी चले। बता दें कि पूरे भारत में कोरोना का टीकाकरण शुरु हो गया है।  देशभर में आज कोरोना का टीकाकरण किया जा रहा है। पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने राजीव गांधी गवर्नमेंट एंड चाइल्ड हॉस्पिटल में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत की है।

देशभर में कोरोना वायरस का टीकाकरण शुरू होने की खुशी में मुंबई में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोरोना वायरस का पुतला और पटाखे जलाकर अपनी खुशी जाहिर की। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि ‘परीक्षण के बाद ही टीकों को मंजूरी दी गई है। मैं यह विश्वास से कहता हूं कि टीकों से सभी को लाभ होगा।

लेह में अग्रिम मोर्चों पर तैनात इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी गई। एक सैनिक ने कहा कि हमें लद्दाख के सेक्टर अस्पताल में कोरोना वैक्सीन दी गई। कोई साइड-इफेक्ट नहीं दिखा और मुझे अच्छा महसूस हो रहा है।
महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई में बीकेसी जंबो कोरोना अस्पताल में टीकाकरण केंद्र का उद्घाटन किया। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि सभी को इस दिन का बेसब्री से इंतजार था।  टीका आ गया है। टीकाकरण 167 बूथों पर होगा। सभी का टीकाकरण करने में एक से डेढ़ साल का समय लगेगा। तब तक, हमें कोरोना संबंधित प्रोटोकॉल का पालन करना जारी रखना होगा।

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मौजूदगी में देहरादून के राजकीय दून मेडिकल कॉलेज  में कोरोना वायरस का वैक्सीनेशन शुरू हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में टीकाकरण की 33 सेशन साइट हैं और पहले चरण में हमारे 50,000 स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगेगी।

भूटान के प्रधानमंत्री लोटे टीशिंग ने कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत पर भारत के लोगों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शुभकामनाएं दी। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि मैं पीएम मोदी और भारत के लोगों को देशव्यापी कोरोना टीकाकरण अभियान की ऐतिहासिक लॉन्च के लिए बधाई देता हूं। उम्मीद है कि यह टीका कोरोना महामारी की पीड़ा को खत्म करने में पूरी तरह से प्रभावी साबित होगा। पीएम मोदी ने उन्हें शुक्रिया कहा।

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में चल रहे वैक्सीनेशन का जायजा लिया।  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलएनजेपी अस्पताल पहुंचकर वैक्सीनेशन का जायज़ा लिया। उन्होंने कहा, ‘आज 8,100 लोगों को वैक्सीन लगेगी। मैं सब लोगों को कहना चाहता हूं कि किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें, एक्सपर्ट का कहना है कि कोई चिंता की बात नहीं है, वैक्सीन सुरक्षित है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। 81 केंद्रों पर यह वैक्सीनेशन एक साथ शुरू की गई है जिसमें ज़्यादातर अस्पताल हैं। एक केंद्र पर 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। कुल मिलाकर आज 8100 लोगों को वैक्सीन लगाने की योजना है।

गुजरात में अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में कोरोना वायरस का वैक्सीनेशन शुरू हुआ, इस दौरान मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी मौजूद रहे। वहीं, दिल्ली में  भाजपा नेता विजय गोयल ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल में वैक्सीनेशन शुरू होने पर स्वास्थ्यकर्मियों को फूल देकर सम्मानित किया। जम्मू-कश्मीर में जम्मू मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई। उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने बताया कि यह ऐतिहासिक दिन है। उम्मीद है कि पहला चरण हम समय सीमा के भीतर पूरा कर लेंगे। जब दूसरा चरण शुरू होगा तो उसे भी पूरा करके स्वस्थ जम्मू-कश्मीर बनाएंगे।

Leave a Reply