Saturday , August 13 2022
टीम इंडिया की जीत से पीएम का फ्यूचर इंडिया को विजयी मंत्र
टीम इंडिया की जीत से पीएम का फ्यूचर इंडिया को विजयी मंत्र

टीम इंडिया की जीत से पीएम का फ्यूचर इंडिया को विजयी मंत्र

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को असम की तेजपुर यूनिवर्सिटी के 18वें दीक्षांत समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। इस दौरान पीएम ने टीम इंडिया की ऑस्ट्रेलिया में जीत का खास तौर से जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए हमारे कुछ खिलाड़ियों को अनुभव भले ही कम था, लेकिन हौसला बुलंद था। मौका मिला तो उन्होंने इतिहास रच दिया। मोदी ने कहा कि हमारे युवा देश का मिजाज, उसका अंदाज कुछ हटकर है। इसका एक ताजा उदाहरण हमने क्रिकेट की दुनिया में देखा है। पीएम ने कहा कि हमें भारतीय टीम की जीत से 3 सीख मिलती हैं। वो ये कि
अपनी क्षमताओं पर विश्वास होना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं, तो मुश्किल काम भी आसान होगा। पॉजिटिव सोच के साथ आगे बढ़ें। इससे सारे काम पॉजिटिव होंगे। सुरक्षित निकलने और मुश्किल जीत का विकल्प हो तो, हमें जीत की तरफ जाना चाहिए। इस कोशिश में कभी-कभी हार भी मिलती है, तो हमें डरना नहीं चाहिए। हम अतिरिक्त दबाव लेते हैं, तो भटक जाते हैं।

मौका मिलते ही रचा इतिहास

पीएम मोदी ने युवाओं से कहा कि आप लोगों में से बहुतों ने भारतीय क्रिकेट टीम के ऑस्‍ट्रेलिया टूर का फॉलो किया होगा। इस टूर में क्‍या-क्‍या चुनौतियां हमारी टीम के सामने नहीं आईं। हमारी इतनी बुरी हार हुई लेकिन उतनी ही तेजी से हम उभरे भी और अगले मैच में जीत हासिल की। चोट लगने के बावजूद हमारे खिलाड़ी मैच बचाने के लिए मैदान पर डटे रहे। चैलेंजिंग कंडिशन्स में निराश होने के बजाय हमारे युवा खिलाड़ियों ने चैलेंज का सामना किया। नए समाधान तलाशे। कुछ खिलाड़ियों में अनुभव जरूर कम था लेकिन हौसला उतना ही बुलंद दिखा। उनको जैसे ही मौका मिला, उन्‍होंने इतिहास बना दिया। एक बेहतर टीम को अपने टैलेंट और अपने टेम्‍परामेंट पर… वो ताकत थी कि उन्‍होंने एक अनुभवी टीम को पराजित कर दिया।

टीम इंडिया की जीत से क्‍या संदेश, पीएम ने बताया

क्रिकेट के मैदान पर हमारे खिलाड़‍ियों की ये परफॉर्मेंस सिर्फ खेल के लिहाज से महत्‍वपूर्ण नहीं है, इससे कई जीवन सदेश मिलते हैं। पहला लेसन ये कि हमें अपनी एबिलिटी पर विश्‍वास होना चाहिए। कॉन्फिडेंस होना चाहिए। दूसरा लेसन हमारे माइंडसेट को लेकर है। हम अगर पॉजिटिव माइंडसेट से लेकर आगे बढ़ते हैं तो रिजल्‍ट भी पॉजिटिव ही आएगा। तीसरा और सबसे अहम लेसन… अगर आपके पास एक तरफ सेफ निकल जाने का ऑप्‍शन हो और दूसरी तरफ मुश्किल जीत का विकल्‍प हो तो आपको विजय का ऑप्‍शन जरूर एक्‍सप्‍लोर करना चाहिए। अगर जीतने की कोशिश में कभी-कभार असफलता भी हाथ लगे तो इसमें कोई नुकसान नहीं।

हमारी वैक्सीन दुनिया को सुरक्षा का भरोसा दे रही

कोरोना में हमने तेजी से फैसले लिए, इसलिए हम प्रभावी रूप से लड़ पाए। मेड इन इंडिया सॉल्यूशन से वायरस के प्रभाव को कम किया। हमारी वैक्सीन की क्षमता भारत ही नहीं, दुनिया को सुरक्षा कवच का भरोसा दे रही है। अगर हम अपने डॉक्टर्स, रिसर्चर्स पर भरोसा नहीं करते तो क्या ये संभव हो पाता? अगर हम ये सोच लेते कि कम लिटरेसी के बावजूद देश की बड़ी आबादी डिजिटल ट्रांजैक्शन कैसे कर पाएगी, तो हम पीछे रह जाते। इसके उलट हमने बेहतर करके दिखाया।

देश की आजादी में असम का बड़ा योगदान

पीएम ने कहा कि भूपेन हजारिका दा के साथ ही ज्योति प्रसाद अग्रवाल और विष्णु प्रसाद तेजपुर की पहचान रहे हैं। आप इनकी कर्मभूमि-जन्मभूमि में पढ़े हैं, इसलिए आपमें गर्व का भाव होना और गौरव के कारण आत्मविश्वास से भरा जीवन होना बहुत स्वाभाविक है। हमारा देश इस बार आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। सैकड़ों वर्षों की गुलामी से आजादी दिलाने में असम के लोगों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने अपना जीवन दे दिया, जवानी खपा दी।

सभावनाओं का फायदा उठाइए

पीएम ने कहा कि कोरोना के काल में आत्मनिर्भर भारत अभियान हमारी शब्दावली का अहम हिस्सा हो गया है। हमारे अंदर वो घुल मिल गया है। हमारा पुरुषार्थ, हमारे संकल्प, हमारी सिद्धि, हमारे प्रयास ये सब हम अपने ईर्द-गिर्द महसूस कर रहे हैं। पीएम मोदी ने डिग्री हासिल करने वाले युवाओं से कहा कि आज 1200 से ज्यादा छात्रों के लिए जीवन भर याद रहने वाला क्षण है। आपके शिक्षक, आपके माता पिता के लिए भी आज का दिन बहुत अहम है। सबसे बड़ी बात आज से आपके करियर के साथ तेजपुर विश्वविद्यालय का नाम हमेशा के लिए जुड़ गया है। उन्‍होंने कहा कि हमारी सरकार आज जिस तरह नार्थ ईस्ट के विकास में जुटी है, जिस तरह कनेक्टिविटी, शिक्षा और स्वास्थ्य हर सेक्टर में काम हो रहा है, उससे आपके लिए अनेकों नई संभावनाएं बन रही हैं। इन संभावनाओं का पूरा लाभ उठाइए।

Leave a Reply