Saturday , August 13 2022

हाथरस न जाने के विरोध में आगरा में जलाए गए मायावती के पोस्टर

लखनऊ। हाथरस प्रकरण को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती से बेहद नाराज हैं जाटव समाज। जाटव समाज में इस बात को लेकर बेहद नाराजगी है कि मायावती ने हाथरस प्रकरण में पीड़ित परिवार से अब तक मुलाकात नहीं की है. केवल ट्वीट करके समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी की इतिश्री कर ली है।

लोगो ने जगदीशपुरा थाना क्षेत्र में स्थित अम्बेडकर पार्क में जोरदार प्रदर्शन किया. बसपा के झंडे जलाए गए. मायावती के पोस्टर जलाए. मायावती के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई. इसके साथ ही बीएसपी मुर्दाबाद के नारे लगाए गए।आक्रोशित लोगों में से एक रामवीर कर्दम का कहना है कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने दलित समाज के साथ छलावा किया है. धोखा दिया है. जनता इसका जवाब जरूर देगी. यह पहला मौका है जब जाटव समाज के अंदर मायावती के खिलाफ रोष पैदा हुआ है और उनका पोस्टर जला दिया गया।

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने हाथरस कांड पर कुछ नहीं बोल कर साबित कर दिया कि वह दलितों का साथ नहीं दे रही है. हमने बसपा के झंडे जलाए हैं। मायावती के पोस्टर जलाए हैं।गौरतलब है कि हाथरस में दलित लड़की के साथ कथित गैंगरेप और हत्या की घटना पर मायावती ने उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा था, लेकिन वह अभी तक पीड़िता के परिवार से मिलने नहीं गई हैं, जबकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने परिजनों से मुलाकात की थी।

 

 

Leave a Reply