Monday , August 15 2022

गुर-शिष्य के रिश्ते को प्रधानाध्यापक ने किया तार-तार, छात्रा के साथ दुष्कर्म की कोशिश पर मुकदमा

कानपुर: यूँ तो गुर-शिष्य के सम्बंध को पवित्रता का सर्वोच्च माना जाता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के जिले में मंगलवार को गुरु-शिष्या के रिश्ते तार-तार हो गए। जहां एक तरफ जहां सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के कैंपेन को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने का प्रयास कर रही है। तो वहीं, दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस मुहिम को धता बताते हुए बेटियों के साथ दुष्कर्म करने जैसी वारदातों को अंजाम करने का कुत्सित प्रयास करते हैं। हालांकि ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने को लेकर समय-समय पर मांगें उठती रहती रहती हैं और कार्रवाई होती भी है लेकिन, इसके बाद भी ऐसे लोग महिलाओं के प्रति अपनी गंदी मानसिकता और बदनीयती को नहीं बदलते हैं।

ताज़ा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के राजेपुर थाना क्षेत्र का है। यहां पढऩे के लिए आई छात्रा को विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने बुरी नीयत से दबोच लिया और उसके साथ छेडख़ानी की। छात्रा ने जब घर पहुंचकर स्वजनों को घटना की जानकारी दी तब पिता ने प्रधानाध्यापक के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया

मौक़े से भाग निकला आरोपी

राजेपुर थाना क्षेत्र निवासी किशोरी जूनियर स्कूल बिलालपुर तुर्कहटा में कक्षा आठ में पढ़ती है। सोमवार को किशोरी स्कूल गई। इस दौरान वहां मौजूद प्रधानाध्यापक दीपक ने स्कूल में मौजूद छात्राओं को अलग-अलग कमरों में बैठकर पढऩे को कहा। प्रधानाध्यापक ने उक्त किशोरी को बुरी नीयत से दबोच लिया। किशोरी ने शोर मचाया तो वहां अन्य छात्राएं भी पहुंच गईं, लेकिन दीपक मौके से भाग निकला।

छात्रा ने घर पहुंचकर स्वजनों को घटना की जानकारी दी। छात्रा के पिता ने थाने में प्रधानाध्यापक दीपक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। थानाध्यक्ष जयंती प्रसाद गंगवार ने बताया कि प्रधानाध्यापक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply